अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

किसानों और भू-रयैतों की जमीन पर आंच नहीं आने देगी झारखंड सरकार : डॉ. उरांव

रांची:- झारखंड के वित्त एवं खाद्य आपूर्ति मंत्री डॉ. रामेश्वर उरांव ने राज्य के किसानों और भू-रयैतों को उनकी जमीन पर किसी तरह की आंच नहीं आने देने का भरोसा देते हुए सोमवार को कहा कि अन्नदाता के उपज को सरकार उचित मूल्य पर खरीदने के लिए पूरी तरह तैयार है।
श्री उरांव ने आज लोहरदगा में टाना भगत विकास प्राधिकार, ग्रामीण विकास, कृषि और भूमि संरक्ष्ण विभाग द्वारा आयोजित परिसंपत्ति वितरण समारोह कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि खेती अच्छी हो, इसके लिए पानी, खाद, बीज और कीटनाशक की जरुरत होती है। किसान को पानी, बीज और खाद के साथ कीटनाशक की व्यवस्था भी पहले से ही कर रखनी पड़ती है, क्योंकि फसल को बीमारियों-कीटाणुओं से बचाव के लिए समय पर कीटनाशक का उपयोग करना पड़ता है।
वित्त मंत्री ने कहा कि फसल तैयार हो जाने के बाद बाजार की जरूरत होती है। राज्य सरकार किसानों को बाजार उपलब्ध कराने के लिए तैयार है। किसान अपने धान को लैम्पस और पैक्स के माध्यम से सरकार को बेच सकते हैं, इसके एवज में उन्हें प्रति क्विंटल 2050 रुपये उपलब्ध कराये जाएंगे। डॉ.उरांव ने कहा कि अभी विपक्षी दल के नेता धान खरीद के भुगतान को लेकर सवाल उठा रहे है, लेकिन पूर्ववर्ती सरकार में सभी ने यह देखा है कि किसानों के द्वारा धान बेच देने के बाद एक साल के बाद बकाया का भुगतान होता था। लेकिन वर्तमान राज्य सरकार ने किसानों को धान की बिक्री के समय ही एक हिस्से की राशि उपलब्ध कराने का काम किया है और शेष राशि का भुगतान तीन-चार महीने में कर दिया गया।
वित्त मंत्री ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा और दिल्ली के किसान तीन नये कृषि कानून को लेकर आंदोलनरत है, लेकिन केंद्र सरकार किसानों की मांग को मानने को तैयार है, लेकिन झारखंड के किसानों को चिंतित होने की जरुरत नहीं है, राज्य में उनके हितों पर आंच नहीं दी जाएगी।
राज्यसभा सांसद धीरज प्रसाद साहू ने राज्य सरकार द्वारा किसानों को मदद के लिए उठाये गये कदम की सराहना करते हुए कहा कि पहली बार किसानों को समय पर बीज और खाद उपलब्ध कराया गया है जिससे धान की बंपर पैदावर की उम्मीद है। उन्होंने धान खरीद के मुद्दे पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेताओं द्वारा की जा रही राजनीति को भी दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया।

%d bloggers like this: