अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

जेईई-मेन परीक्षा लीक मामले की उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश से करायी जाये जांच: कांग्रेस


नयी दिल्ली:- कांग्रेस ने जेईई-मेन परीक्षा में पेपर लीक के मामले को अत्यंत गंभीर बताते हुए इसे देश के बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करार दिया और कहा कि यह बहुत बड़ा घोटाला है तथा इस पूरे प्रकरण की उच्चतम न्यायालय के न्यायधीश के नेतृत्व में समिति गठित कर जांच करायी जानी चाहिए। कांग्रेस प्रवक्ता गौरव बल्लव, अलका लांबा और पार्टी की छात्र इकाई एनएसयूआई के अध्यक्ष नीरज कुंदन ने शनिवार को यहां पार्टी मुख्यालय में संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने हर प्रतियोगिता परीक्षा को घोटाले का अड्डा बना दिया है और जेईई मेन जैसे प्रतिष्ठित परीक्षा में भी लाखों रुपये देकर पेपर लीक करवाये जा रहे हैं। उनका कहना था कि हर प्रतिष्ठित परीक्षा के अब पेपर लीक हो रहे हैं और लाखों रुपए में पेपर बेचे जा रहे हैं। इस तरह से भारतीय जनता पार्टी ‘बेचते जाओ पेपर’ वाली पार्टी बनकर सामने आ गई है। उन्होंने कहा कि देश में बड़ी परीक्षाओं की जिम्मेदारी इस सरकार में 2017 में नेशनल टेस्टिंग एजेंसी को दी थी लेकिन यह एजेंसी अविश्वसनीय बनकर सामने आई है। हर साल इसके द्वारा आयोजित परीक्षाओं में पेपर लीक हो रही है और एजेंसी जिम्मेदारी के निर्वहन में असफल हो रही है। उन्होंने कहा कि यह सामान्य बात नहीं है कि देश की सबसे प्रतिष्ठित प्रवेश परीक्षा के पेपर लीक हो रहे है। इसकी गहन जांच होनी चाहिए और प्रधानमंत्री को सामने आकर युवाओं को विश्वास देना चाहिए कि वह इसके लिए जिम्मेदार हैं और भविष्य में ऐसी स्थिति पैदा नहीं होगी। कांग्रेस प्रवक्ताओं ने कहा कि आश्चर्य इस बात का है कि देश में लगभग हर राज्य की प्रतिष्ठित परीक्षाओं के पेपर लीक हो रहे है। यहां तक कि पुलिस सिपाही भर्ती के पेपर भी लीक हो रहे है और लाखों रूपये में बिक रहे है। इन परीक्षाओं के पेपर लीक कराये जा रहे है।
उन्होंने कहा कि जेईई मेन परीक्षा का पेपर 15 लाख में बिका और इसके लिए बाकायदा एडवांस चेक लिए गए है। कर्नाटक में राजय स्तरीय परिक्षा के लिए पेपर 35 लाख में बिका। उत्तर प्रदेश, बिहार, आंध्र प्रदेश, असम आदि राज्यों में पेपर लीक हुए है और लाखों रुपये में पेपर बेचे गये है।
उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार जब से आई है उसने पूरी परीक्षा प्रणाली पर ही सवाल खड़ा कर दिया है। इससे सबसे बड़ा नुकसान प्रतिभाशाली छात्रों को हो रहा है। उनकी सीट किसी अयोग्य व्यक्ति को पैसे के बल पर मिल रही है।
एनएसयूआई अध्यक्ष ने कहा कि पेपर लीक युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ है और उनका संगठन सोमवार को देशभर में इसके विरुद्ध आंदोलन करेगा।

%d bloggers like this: