अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

सदन चलाने की जिम्मेवारी सत्ता पक्ष की : सरयू राय


राज्य में परस्पर सहयोग और सद्भाव के लिए बाबूलाल को नेता प्रतिपक्ष मान लिया जाना चाहिएः सरयू राय
रांची:- निर्दलीय विधायक सरयू राय ने आज राज्यपाल रमेश बैस से मुलाकात की। मुलाकात के पीछे के कारणों पर बात करते हुए सरयू राय ने कहा है कि राज्यपाल से उनकी पुरानी पहचान है झारखंड के राज्यपाल बनाए जाने के बाद मैं उनसे औपचारिक मुलाकात करने यहां पहुंचा। वहीं उन्होंने कल शुरू होने वाले मानसून सत्र के शांतिपूर्ण संपन्न होने से संबंधित सवाल पूछे जाने पर कहा की सत्र शांतिपूर्ण चलाने की जिम्मेदारी सरकार के ऊपर होती है विपक्ष के सवालों का संतोषजनक जवाब सत्ता पक्ष की जिम्मेदारी होती है पक्ष और विपक्ष के सहयोगात्मक रवैया रहनी चाहिए नहीं तो 4 दिन की चांदनी फिर अंधेरी रात।
वहीं उन्होंने दिल्ली में हुए इन्वेस्टर सबमिट के सवाल पर कहा कि किसी को अगर अपने घर बुलाते हैं तो उससे पहले घर की साफ सफाई कर लेनी चाहिए इसमें झारखंड में हमेशा से कमी रह जाती है। वहीं उन्होंने इशारों इशारों में पूर्वर्ती रघुवर सरकार के ऊपर निशाना साधते हुए कहा कि पिछली सरकार में भी हाथी उड़ने काम किया गया था लेकिन लगाम अपने हाथों में नहीं रखी गई थी। वर्तमान सरकार हाथी में बैठ रही है तो इन्हें चाहिए कि लगाम अपने हाथों में रखे ताकि हांथी सही दिशा में जाए।
साथ ही उन्होंने नेता प्रतिपक्ष से संबंधित पूछे गए सवाल पर कहा कि बंधु तिर्की कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जा सकते हैं तो बाबूलाल मरांडी को भी नेता प्रतिपक्ष बनाकर सदन में चली आ रही गतिरोध को दूर करना चाहिए। सदन में नेता प्रतिपक्ष नहीं होने के कारण कई विधाययी कार्यों में अवरोध होता है।

%d bloggers like this: