अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

टीबी उन्मूलन को लेकर जागरूकता अभियान चलाने का निर्देश


धनबाद:- उप विकास आयुक्त   दशरथ चंद्र दास की अध्यक्षता में मंगलवार को समाहरणालय के सभाकक्ष में नेशनल ट्यूबरकुलोसिस एलिमिनेशन प्रोग्राम (एनटीईपी) के तहत डिस्ट्रिक्ट टीबी फोरम की बैठक का आयोजन किया गया।
उप विकास आयुक्त ने बताया कि बैठक में जिला अंतर्गत टीबी बीमारी के उपचार एवं बचाव से संबंधित किए जा रहे कार्यों एवं उपलब्ध संसाधनों इत्यादि के संबंध में विस्तार से चर्चा की गई। साथ ही टीबी जन आंदोलन कार्यक्रम एवं जागरूकता अभियान के संबंध में भी विचार विमर्श किया गया।
उन्होंने बताया कि टीबी के उन्मूलन हेतु नागरिकों, पत्रकारों, धर्मगुरुओं, जनप्रतिनिधियों, समाज के प्रबुद्ध व्यक्तियों एवं गैर सरकारी संगठनों का सहयोग निरंतर प्राप्त होता रहा है। साथ ही हमें पूरी आशा है कि इस हेतु इन सभी का सहयोग हमें भविष्य में भी प्राप्त होता रहेगा।
बैठक में सिविल सर्जन ने बताया कि कुपोषण एवं प्रदूषण के कारण टीबी की बीमारी होती है तथा ड्रॉपलेट इनफेक्शन इसका एक प्रमुख कारण है। जिले में टीबी की बीमारी से ग्रसित लोगों के उपचार हेतु सभी प्रकार की दवाएं तथा जांच की व्यवस्था निशुल्क उपलब्ध कराई जाती है।
उन्होंने बताया कि टीबी की बीमारी से प्रतिवर्ष कई लोगों की जान जाती है। बचाव ही इसका सबसे अच्छा उपाय है। टीबी से बचाव हेतु नियमित रूप से मास्क का प्रयोग अत्यंत आवश्यक है। सभी प्रकार के पोषक तत्वों का सेवन करना जरूरी है। साथ ही सामाजिक दूरी का अनुपालन कर तथा स्वच्छता पर विशेष ध्यान रखकर टीबी से बचाव किया जा सकता है।
बैठक में डॉ एसएम जफरुल्लाह ने बताया कि टीबी की जांच हेतु जिले में 14 ट्रू-नॉट मशीन तथा 2 सीबी नेट मशीन उपलब्ध है। साथ ही जांच हेतु आवश्यक किट पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। जिसके माध्यम से मरीजों की निशुल्क जांच की जाती है। टीबी के दौरान तंबाकू, सिगरेट अथवा अन्य किसी प्रकार के नशे का सेवन करना कैंसर का कारक हो सकता है। बीमारी से ग्रसित व्यक्तियों के लिए समय से दवा लेना एवं समय-समय पर चिकित्सकों से परामर्श प्राप्त करना अत्यंत आवश्यक है।
बैठक में उपस्थित जनप्रतिनिधि, आईएमए के प्रतिनिधि तथा विभिन्न गैर सरकारी संगठनों के प्रतिनिधियों ने अपने सुझावों से अवगत कराया। उप विकास आयुक्त ने इन सभी सुझावों पर गंभीरता से विचार करने का आश्वासन दिया।
बैठक में उप विकास आयुक्त  दशरथ चंद्र दास, सिविल सर्जन डॉ गोपाल दास, डॉ एसएम जफरुल्ला, नजारत उप समाहर्ता   अनुज बांडो, विभिन्न मीडिया हाउस के मुख्य पत्रकार, टाटा जामाडोबा के प्रतिनिधि, आईएमए के सचिव, विभिन्न गैर सरकारी संगठनों के प्रतिनिधि सहित विभिन्न जनप्रतिनिधिगण एवं अन्य संबंधित व्यक्ति उपस्थित रहे।

%d bloggers like this: