April 13, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

किसान क्रेडिट कार्ड, डेयरी, मत्स्य पालन, एसएचजी योजनाओं को बढ़ावा देने का निर्देश

हज़ारीबाग:- हजारीबाग जिला स्तरीय परामर्श दात्री समिति की बैठक उपायुक्त आदित्य कुमार आनंद की अध्यक्षता में बुधवार को समाहरणालय सभागार में आयोजित की गई। बैठक में उपायुक्त ने जिला सहायक योजना 2020-21 के दिसंबर माह तक की उपलब्धियों की समीक्षा सहित कैश डिपोसिट अनुपात,प्रधानमंत्री मुद्रा योजना ,कृषि ऋण प्रवाह की प्रगति,पीएमईजीपी की उपलब्धि इत्यादि के विषयों की समीक्षा की।उन्होंने उपस्थित सभी बैंक प्रतिनिधियों से कृषि विकास से संबंधित योजनाओं पर उत्साह दिखाने यथा किसान क्रेडिट कार्ड, डेयरी,मत्स्य पालन,एसएचजी आदि योजनाओं को बढ़ावा देने के लिए योग्य नागरिको को ऋण की स्वीकृति देने में रुचि दिखाने की बात कही। बैठक के क्रम में प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) के वित्तीय वर्ष 2020-21 में हज़ारीबाग़ जिले से कुल 115 मामलों पर ऋण की स्वीकृति दिलाते हुए पूरे राज्य में प्रथम स्थान प्राप्त होने की जानकारी दी गई। साथ ही उपायुक्त ने एसएचजी लिंकेज में अच्छा प्रदर्शन करने पर सभी बैंकों को इस ओर ध्यान देने का निर्देश दिया,विशेषकर उन्होंने बड़े बैंक एसबीआई,पीएनबी को बेहतर करने की बात कही। मौके पर सभी बैंक के सीडी रेसिओ (कैश डिपॉजिट अनुपात) को बढ़ाने पर सजगता दिखाने का निर्देश देते हुए बचे वर्तमान माह के दौरान अपना 20-2021 के एसीपी लक्ष्य को पूरा करने का निर्देश दिया।
मौके पर उपायुक्त के अलावें डीडीसी अभय कुमार सिन्हा,प्रशिक्षु आईएएस सौरभ भुवानिया,एल.डी.ओ (आर.बी.आई)अमित विश्वकर्मा,अग्रणी जिला प्रबंधक सुधाकर पांडे,जेएसएलपीएस जिला समन्वयक शांति मार्डी एवं बैंक प्रतिनिधि मौजूद थे।
इधर, जिला (बैंक) परमर्शदात्री समिति और केंद्र सरकार प्रायोजित एफ़पीओ (किसान कंपनियाँ) की जिला अनुश्रवण समिति की बैठक
चार प्रखंडों में इस वर्ष से ही एफ़पीओ का गठन। नाबार्ड ईचाक और बड़कागाँव में तथा एसएफ़एसी बरकठा और कटकामदाग में बनाएँगे किसान कंपनियाँ कृषि मंत्रालय,भारत सरकार योजना दृ सीएसएस-एफ़पीओ (किसान उत्पादन संगठन पर केंद्र प्रायोजित कार्यक्रम) की जिला अनुश्रवण समिति की बैठक उपायुक्त हजारीबाग आदित्य कुमार आनंद की अध्यक्षता में समाहरणालय सभागार में दिनांक आज 03.03.2021 को संपन्न हुई।
इस बैठक में केंद्र सरकार के द्वारा नाबार्ड और एसएफ़एसी को (नाबार्ड ईचाक और बड़कागाँव) तथा (एसएफ़एसी बरकठा और कटकमदाग) प्रखण्ड आवंटन का अनुमोदन किया गया ताकि इस विषयक शीघ्रता से कार्य शुरू किया जा सके।
इसके पूर्व हजारीबाग जिला अंतर्गत जिले में बैंक ऋण वितरण, वित्तीय समावेशन, किसानों के केसीसी सेचुरेशन और उद्यमिता प्रोमोशन को केन्द्रित राज्य और केंद्र प्रायोजित योजनाओं की वित्तीय वर्ष 2020-21 की तृतीय तिमाही में हुई प्रगति की समीक्षा हेतु सभी बैंकों के साथ डीसीसी (जिला परामर्शदात्री समिति) की तृतीय बैठक समाहरणालय- सूचना भवन हजारीबाग के सभागार में उपायुक्त हजारीबाग की अध्यक्षता में आयोजित की गई।
बैठक में डीडीसी, रिजर्व बैंक के एलडीओ, अमित विश्वकर्मा, एलडीएम सुधाकर पांडे, डीडीएम नाबार्ड प्रेम प्रकाश सिंह, महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र, जिला के कृषि, पशुपालन और मत्स्य पदाधिकारी तथा सभी बैंकों से समन्वयक और प्रबन्धक शामिल थे।
बैठक में ऋण /जमा अनुपात, वार्षिक ऋण योजना से संबंधित वित्तीय वर्ष 2020-21 की उपलब्धियों की समीक्षा, किसान क्रेडिट कार्ड, सूक्ष्म एवं लघु तथा मध्यम उद्योग की समीक्षा, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, स्वयं सहायता समूह (एसएचजी) के द्वारा भेजे गए आवेदन तथा बैंकों द्वारा कि गई स्वीकृति की समीक्षा, वित्तीय समावेशन एवं प्रधानमंत्री जन धन योजना, पीएम किसान के लाभुकों को केसीसी देने आदि अन्यान्य विषयों की समीक्षा की गई ।
जिले में पाँचवी तिमाही में ऋण जमा अनुपात मानक 40þ से कम रहा है। इसमे सभी बैंकों से विशेषकर जिनका अनुपात 30þ से भी कम है विशेष ध्यान देने को कहा गया है। रिजर्व बैंक एलडीओ ने नाबार्ड की और अन्य सरकारी योजनाओं के अंतर्गत उपलब्ध अनुदानों का लाभ लेकर ऋण वितरण में तेजी लाने का निर्देश दिया।
बैठक में सभी बैंकर्स से बारी बारी से सभी बैंकों के द्वारा दिए जा रहे केसीसी लोन,प्रधानमंत्री मुद्रा लोन, एसएचजी को दिए जाने वाले लोन वितरण में कमी को देखते हुए अपनी कड़ी नाराजगी दिखाते हुए उन्हें अपने स्तर पर समीक्षा करने के पश्चात ही बैठक में शामिल होने का निर्देश दिया।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: