June 14, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

चुनाव खत्म होते ही महंगाई ने पकड़ी रफ्तार

पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ने से महंगाई चरम पर, झारखंड में उछाल

झारखंड पेट्रोलियम डीलर एसोसिएशन का राज्य सरकार से वैट कम कर कीमतों को नियंत्रित करने का आग्रह

रांची:- कोरोना महामारी के बीच पेट्रोल और डीजल की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी हो रही हैं. राजधानी में बुधवार को पेट्रोल और डीजल की कीमतों में उछाल आया है. रांची में पेट्रोल 91.04 रुपए प्रति लीटर और डीजल 90.15 रुपए प्रति लीटर रहा. इससे पहले कभी तेल की कीमतों ने इस ऊंचाई को नहीं छुआ था. महंगाई का आलम यह है कि पेट्रोल से आधे दामों पर बिकनेवाले डीजल अब पेट्रोल के कीमत से महज एक रुपए के अंतर में रह गया है.
चुनाव खत्म होते ही महंगाई ने अपनी रफ्तार में लगातार तेजी दिखाई है. गैरतलब है कि पिछले एक महीने में डीजल की कीमत में 4.80 रुपए और पेट्रोल की कीमत में 3.09 रुपए की बढ़ोतरी हो चुकी है. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने का कारण देश में पेट्रोल महंगा हो गया है. इस महामारी में लोगों की परेशानी और बढ़ गई है. एनएफ. दरअसल पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ने का असर सभी चीजों पर पड़ता है. इसलिए इनके दामों पर सबकी नजर रहती है. डीजल के महंगा होने से खाद्य सामग्री के दाम भी बढ़ गए हैं. क्योंकि, अधिकांश खाद्य सामग्री की ट्रांसपोर्टिंग ट्रकों से ही होती है. झारखंड पेट्रोलियम डीलर एसोसिएशन ने राज्य सरकार से वैट कम कर कीमत को नियंत्रित करने का आग्रह किया है. एसोसिएशन का कहना है कि झारखंड में प्रतिमाह डीजल की औसतन बिक्री 1 लाख 35 हजार लीटर है और वर्तमान में 22 प्रतिशत वैट और प्रतिलीटर 1 रुपए सेस लगता है. अगर, वैट घटता है तो डीजल-पेट्रोल की कीमतें घटेंगी और राज्य सरकार के राजस्व में बढ़ोतरी हो सकती है.

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: