अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

टोक्यो ओलंपिक में भारत के खिलाड़ी इस बार सर्वाधिक पदक जीतेंगे – श्रेयसी सिंह


रांची:- सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के पटना स्थित प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो (पीआईबी) एवं रीजनल आउटरीच ब्यूरो (आरओबी) द्वारा आज “टोक्यो ओलंपिक एवं भारत” विषय पर वेबिनार का आयोजन किया गया।
वेबिनार में अतिथि वक्ता के रूप में शामिल अंतरराष्ट्रीय शूटर, अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित, कॉमनवेल्थ गेम्स-2018 में स्वर्ण पदक विजेता तथा जमुई की विधायक श्रेयसी सिंह ने कहा कि कोई भी खिलाड़ी अथक परिश्रम की वजह से ही ओलंपिक जैसे महान खेल में पहुंचता है। खिलाड़ियों के लिए हार या जीत मायने नहीं रखती है, बल्कि उनकी भागीदारी महत्वपूर्ण होती है। मेरी शुभकामना है कि ओलंपिक में शामिल होने वाले भारतीय टीम अधिक से अधिक गोल्ड मेडल लेकर आएं। उन्होंने कहा कि ओलंपिक खेलों में राष्ट्रगान की धुन के साथ भारत का तिरंगा हाथ में लेने पर न सिर्फ खिलाड़ी बल्कि सभी देशवासी भी गौरवान्वित महसूस करते हैं। यह पल शरीर में रोंगटे खड़े कर देने वाला होता है, जो हर खिलाड़ी महसूस करना चाहता है। उन्होंने कहा कि हॉकी का प्रदर्शन पूर्व की भांति ही सबसे बेहतरीन रहने वाला है और इसमें भारत निश्चित ही गोल्ड लेकर आएगा। उन्होंने कहा कि बीते कुछ वर्षों में केंद्र सरकार की उत्कृष्ट खेल योजनाओं की वजह से खिलाड़ियों को काफी प्रोत्साहन मिला है। खेलो इंडिया, नेशनल टैलेंट सर्च ऐसी ही कुछ अच्छी योजनाएं हैं। उन्होंने कहा कि शूटिंग में कुल 15 खिलाड़ी ओलंपिक में भेजे गए हैं और मुझे उम्मीद है कि इनमें छह से सात मेडल भारत को अवश्य मिलेगा। तीरंदाजी में झारखंड की दीपिका देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में वर्ल्ड रैंकिंग वन हैं और उनसे गोल्ड की पूरी उम्मीद है। भवानी देवी जोकि तलवारबाजी में शिरकत कर रही हैं, उनसे भी गोल्ड की पूरी उम्मीद है। उन्होंने कहा कि बिहार में टैलेंट की कोई कमी नहीं है लेकिन इसे निखारने के लिए केंद्र और राज्य सरकार को एक आधार प्रदान करना होगा। मध्य प्रदेश का खेल एकेडमी पढ़ाई और खेल के बीच के संतुलन बनाए रखने का उत्कृष्ट उदाहरण है और हमें इससे सीख लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि स्पोर्ट्स में सबसे जरूरी होता है इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट और भारत में इस दिशा में बहुत काम किया गया है।
वेबिनार में अतिथि वक्ता के रूप में शामिल भारतीय तैराकी संघ के उपाध्यक्ष, राष्ट्रमंडल खेलों, साउथ एशियन फेडरेशन खेलों एवं कॉमनवेल्थ खेलों में जज रह चुके प्रभाकर नंदन प्रसाद ने कहा कि इस बार का ओलंपिक हर मायने में भारत के लिए रिकॉर्ड स्थापित करने वाला होगा। भारत के लिए इतिहास ही है कि स्विमिंग के क्षेत्र में भारत के खिलाड़ी स्टैंडर्ड ए में क्वालीफाई किए हैं। मन्ना पटेल भारत की पहली स्विमर हैं, जिन्होंने भारत की ओर से ओलंपिक में भाग लिया है। उन्होंने कहा कि भारतीय खिलाड़ियों के ओलंपिक में मेडल जीतने को लेकर वे बेहद आशावान हैं। उन्होंने कहा कि मुझे पूरी उम्मीद है कि 78 प्रतियोगिताओं में से 13 मेडल भारत की झोली में अवश्य आएंगे।

%d bloggers like this: