अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

चालू वर्ष में 6.7 प्रतिशत रह सकती है भारत की विकास दर: संयुक्त राष्ट्र


नयी दिल्ली:- संयुक्त राष्ट्र ने पटरी पर लौट रही आर्थिक गतिविधियों के कोरोना के नये वेरिएंट से प्रभावित होने की आशंका जताते हुये आज जारी अपनी एक रिपोर्ट में कहा कि टीकाकरण में तेजी, लचीले सामाजिक हिदायतें और सहयोगात्मक मौद्रिक एवं वित्तीय नीतियों के बल पर भारत सुधार के सुदृढ पथ पर आगे बढ़ रहा है तथा वर्ष 2021 में भारत की विकास दर 9.0 प्रतिशत और चालू वर्ष में 6.7 प्रतिशत रहने का अनुमान है। संयुक्त राष्ट्र विश्व आर्थिक स्थिति एवं संभावनायें (डब्ल्यूईएसपी) 2022 आज जारी की गयी। इस रिपोर्ट में क गया है कि भारत में टीकाकरण में तेजी आयी है और कोरोना के नये वेरिएंट के बावजूद लचीले सामाजिक हिदायतें जारी की गयी है। इसके साथ ही मौद्रिक और वित्तीय नीतियां भी सहयोगात्मक बनी हुयी है जिससे आर्थिक गतिविधियों को मदद मिल रही है। उसने कहा कि इसके बल पर वर्ष 2021 में भारत की विकास दर 9.0 प्रतिशत और चालू वर्ष में इसके 6.7 प्रतिशत पर रहने का अनुमान है। रिपोर्ट में कहा गया है कि वैश्विक विकास के सामने अभी भी बहुत बड़ी चुनौतियां हैं। संक्रमण की नयी लहर और काेराेना के नये वेरिएंट से सुधार को झटका लगा है। इस महामारी के साथ कई अन्य कारक भी हैं जो विकास को प्रभावित कर रहे हैं। महामारी के कारण आपूर्ति श्रृंखला के प्रभावित होने के साथ ही महंगाई भी बढ़ रही है। अनुमान से अधिक वैश्विक वित्तीय स्थिति खराब हो रही है और वित्तीय स्थिरता को लेकर संकट पैदा होने लगे हैं। इससे ऋण के जोखिम में फंसने की भी आशंका पैदा होने लगी है। रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन में अनुमान से अधिक सुस्ती के साथ ही चीन और अमेरिका के साथ तनाव से भी वैश्विक आर्थिक सुधार प्रभावित हो सकता है।

%d bloggers like this: