नयी दिल्ली:- कनाडा एवं अमेरिका की सीमा पर मनिटोबा के करीब 19 जनवरी को मृत पाये गये एक भारतीय परिवार के चार लोगों की मौत के कारणों की जांच को लेकर भारतीय उच्चायोग एवं टोरंटो स्थित काउंसिलेट जनरल स्थानीय प्रशासन और पीड़ित परिवारजनों के निरंतर संपर्क में है।
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने आज यहां नियमित ब्रीफिंग में एक सवाल के जवाब में कहा कि हमारे कनाडा एवं अमेरिका के मिशन मनिटोबा की इस घटना को लेकर नियमित रूप से सक्रिय हैं। कनाडा की सरकार ने इस बात की पुष्टि की है कि चारों लोग भारतीय नागरिक थे और एक ही परिवार के थे। उनके निकटतम परिजनों को सूचित कर दिया गया है।
श्री बागची ने कहा कि कनाडा के प्रशासन ने यह भी बताया है कि चारों लोगों की मौत लगातार बाहर खुले में रहने के कारण हुई है। ओटावा में भारतीय उच्चायोग एवं टोरंटो में भारतीय काउंसलेट जनरल जांच के सभी पहलुओं के बारे में कनाडा सरकार के सतत संपर्क में है और परिजनों को भी काउंसुलर सेवाएं प्रदान की जा रही हैं।
प्रवक्ता ने एक अन्य प्रश्न के उत्तर में स्वीकार किया कि संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के एक जहाज से यमन के हूदी उग्रवादियों द्वारा अपहृत सात भारतीय नाविक सुरक्षित एवं स्वस्थ हैं। भारत सरकार विभिन्न स्रोतों से अपने नाविकों के कल्याण के बारे में जानकारी ले रही है और हूदी उग्रवादियों को संदेश भेज रही है कि नाविकों को शीघ्र रिहा कर दिया जाये।

Leave a Reply

%d bloggers like this: