January 26, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

भारत को एक दिन में बनाने होंगे 309

सिडनी:- भारत ने ऑस्ट्रेलिया से मिले 407 रन के बेहद मुश्किल लक्ष्य का पीछा करते हुए जोरदार शुरुआत की लेकिन इसके बाद उसने दोनों ओपनरों के विकेट गंवा दिए। टीम इंडिया ने तीसरे क्रिकेट टेस्ट मैच के चौथे दिन रविवार को स्टंप्स तक दो विकेट खोकर 98 रन बना लिए हैं और उसे मैच के पांचवें दिन जीत के लिए 309 रन बनाने हैं जो एक मुश्किल चुनौती है। ऑस्ट्रेलिया ने चौथे दिन चायकाल के समय अपनी दूसरी पारी छह विकेट पर 312 रन बनाकर घोषित की। ऑस्ट्रेलिया को पहली पारी में 94 रन की बढ़त हासिल थी और उसने भारत के सामने 407 रन का मुश्किल लक्ष्य रख दिया। भारतीय ओपनरों रोहित शर्मा (52) और शुभमन गिल (31) ने इस मुश्किल लक्ष्य का साहस के साथ पीछा करना शुरू किया और पहले विकेट के लिए 71 रन की बेहतरीन साझेदारी की। दोनों बल्लेबाजों ने तेजी के साथ बल्लेबाजी करते हुए रन बटोरे। लेकिन जोश हेजलवुड ने गिल को विकेटकीपर टिम पेन के हाथों कैच कराकर भारत को पहला झटका दे दिया। गिल अपनी पारी को लम्बा नहीं खींच पाए और 64 गेंदों में चार चौकों की मदद से 31 रन बनाकर आउट हो गए। मैदान पर उतरे चेतेश्वर पुजारा आने के साथ ही डीआरएस का सहारा लेकर बचे। जोश हेजलवुड की गेंद पर अम्पायर ने पुजारा को पगबाधा आउट दे दिया लेकिन पुजारा ने तुरंत डीआरएस का सहारा लिया और अम्पायर को अपना फैसला बदलने के लिए मजबूर होना पड़ा। भारत के लिए यह बड़ी राहत की बात थी।

उस समय पुजारा का खाता नहीं खुला था। रोहित ने चौका मारकर कर अपना अर्धशतक पूरा किया लेकिन अर्धशतक पूरा करने के बाद पैट कमिंस की गेंद पर पुल करने के प्रयास में गेंद को नीचे नहीं रख पाए और मिशेल स्टार्क को कैच थमा कर पवेलियन लौट चले। रोहित का आउट होना भारत के लिए बड़ा झटका था क्योंकि वही ऐसे बल्लेबाज थे जो तेजी से रन बटोर रहे थे और अंतिम दिन ऑस्ट्रेलिया पर दबाव बना सकते थे। रोहित का विकेट दिन की समाप्ति से तीन ओवर पहले गिरा और उस समय भारत का स्कोर 92 रन था। रोहित ने 98 गेंदों पर पांच चौकों और एक छक्के की मदद से 52 रन बनाये। पुजारा और कप्तान अजिंक्या रहाणे ने इसके बाद शेष खेल सुरक्षित निकाल लिया। स्टंप्स के समय पुजारा 29 गेंदों पर नौ रन और रहाणे 14 गेंदों पर चार रन बनाकर क्रीज पर थे। इन दोनों बल्लेबाजों पर सोमवार को पांचवें और अंतिन दिन भारत के लिए मैच बचाने या जीत दिलाने की भारी जिम्मेदारी रहेगी।इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने कल के दो विकेट पर 103 रन से आगे खेलना शुरू किया। मार्नस लाबुशेन ने 47 और स्टीवन स्मिथ ने 29 रन से अपनी पारी को आगे बढ़ाया। भारत को तीसरी सफलता 138 के स्कोर पर मिली। तेज गेंदबाज नवदीप सैनी ने लाबुशेन को स्थानापन्न विकेटकीपर रिद्धिमान साहा के हाथों कैच करा दिया। लाबुशेन ने 118 गेंदों में नौ चौकों की मदद से 73 रन बनाये। लाबुशेन ने पहली पारी में 91 रन बनाये थे।
सैनी ने मैथ्यू वेड का भी जल्दी ही शिकार कर लिया। वेड का कैच भी साहा ने ही लपका। वेड 11 गेंदों में चार रन ही बना सके और उनका विकेट 148 के स्कोर पर गिरा। स्मिथ ने फिर कैमरून ग्रीन के साथ पांचवें विकेट के लिए 60 रन की साझेदारी कर ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 200 के पार पहुंचा दिया।
पहली पारी में 131 रन बनाने वाले स्मिथ लगातार दूसरे शतक की तरफ अग्रसर थे कि ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने स्मिथ को एक बार फिर अपना शिकार बना लिया। अश्विन ने स्मिथ को पगबाधा कर दिया। स्मिथ ने 167 गेंदों पर 81 रन में आठ चौके और एक छक्का लगाया और उनका विकेट 208 के स्कोर पर गिरा।
ग्रीन ने कप्तान टिम पेन के साथ छठे विकेट के लिए 104 रन की साझेदारी की और ऑस्ट्रेलिया को बेहद मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया। जसप्रीत बुमराह ने चायकाल से ठीक पहले ग्रीन को साहा के हाथों कैच करा दिया और पेन ने इसी के साथ ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी 312 के स्कोर पर घोषित कर दी।
ग्रीन ने 132 गेंदों पर आठ चौकों और चार छक्कों की मदद से शानदार 84 रन बनाये जबकि पेन ने 52 गेंदों पर नाबाद 39 रन में छह चौके लगाए। भारत की तरफ से सैनी ने 54 रन पर दो विकेट, अश्विन ने 95 रन पर दो विकेट, बुमराह ने 68 रन पर एक विकेट और मोहम्मद सिराज ने 90 रन पर एक विकेट लिया। अपना अंगूठा चोटिल कर बैठे लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा मैदान से बाहर रहे और वह भारत की दूसरी पारी में बल्लेबाजी भी नहीं कर पाएंगे जो भारत के लिए बड़ा झटका है।

Recent Posts

%d bloggers like this: