January 22, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

गंगा के जलस्तर में वृद्धि से दो दर्जन से अधिक गांवों का सड़क संपर्क भंग

बेगूसराय:- गंगा और बूढ़ी गंडक नदी के बढ़ते जलस्तर ने एक बार फिर लोगों को रुलाना शुरू कर दिया है। गंगा के जलस्तर में वृद्धि के कारण शाम्हो, बछवाड़ा, तेघड़ा, बरौनी, मटिहानी, बलिया एवं साहेबपुर कमाल प्रखंड के दियारा क्षेत्र में दर्जनों गांवों का संपर्क प्रखंड और जिला मुख्यालय से टूट गया है। एक लाख से अधिक की आबादी निजी नाव के भरोसे अपनी जरूरतों को पूरा कर रही है। जलस्तर में वृद्धि की गति भले ही धीमी है, लेकिन इससे एक बार फिर लोगों की परेशानी तेजी से बढ़नी शुरू हो गई है। बछवाड़ा प्रखंड के चमथा-एक, चमथा-दो, चमथा-तीन, विशनपुर एवं दादुपुर पंचायत के ग्रामीणों तथा रानी-एक, रानी-दो, रानी-तीन, गोदना, गोविंदपुर-तीन व फतेहा पंचायत के किसानों को इसके परेशानियां झेलनी पड़ रही हैंं। गंगा के जलस्तर में वृद्धि के कारण पहले तो हजारों एकड़ में लगी फसलें बाढ़ की भेंट चढ़ गई। अब देखते-ही-देखते पांच पंचायतों के मुहल्लों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया। लोगों के घरों में दो से पांच फीट तक पानी जमा हो जाने से लोग सुरक्षित स्थानों पर शरण लिए हुए हैं। लेकिन भोजन की समस्या है, पशुओं को चारा नहीं मिल रहा है। विशनपुर पंचायत में प्रधानमंत्री सड़क पर कमर भर पानी है। चमथा के तीनों पंचायत समेत विशनपुर पंचायत के मुहल्ले का सम्पर्क मुख्यालय से टूट गया है। विशनपुर के मुखिया श्रीराम राय ने बताया कि बहुत से लोग परेशान हैं, लेकिन शासन-प्रशासन चैन की नींद सो रहा है, नाव तक की व्यवस्था नहीं की गई है। चारों ओर से नदियों से घिरे शाम्हो प्रखंड के सभी गांवों का सम्पर्क टूट चुका है, लोग परेशान हैं। बलिया प्रखंड के सादपुर, विष्णुपुर, ताजपुर, नौरंगा समेत एक दर्जन से अधिक गांवों का सड़क संपर्क भंग हो गया है। यहां लोगों के आवागमन का एकमात्र सहारा नाव बच गयी है, निजी नाव के सहारे लोग आ-जा रहे हैं। दूसरी ओर बूढ़ी गंडक नदी के जलस्तर में वृद्धि शुरू हो जाने से तटबंध पर दबाव वाले गांवों के लोगों में भय व्याप्त हो गया है। हालांकि प्रशासन खतरे वाली जगहों पर लगातार नजर रख रहा है। बलान नदी का पानी भी दर्जनभर से अधिक गांवों को तबाह कर रहा है। जगह-जगह बांध से ऊपर बहकर पानी लगातार नए इलाकों में फैल रहा है।

Recent Posts

%d bloggers like this: