अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कोरोना की दूसरी लहर में कफन तक सीमित रह गयी सरकार-आजसू पार्टी

22 जून को आजसू पार्टी का संकल्प दिवस

रांची:- आजसू पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो की अध्यक्षता में आजसू पार्टी की वर्चुअल मीटिंग का आयोजन किया गया। बैठक में पार्टी के सभी केंद्रीय पदाधिकारी, अनुषंगी इकाई के अध्यक्ष एवं सचिव, जिला अध्यक्ष, जिला सचिव, विधानसभा प्रभारी एवं जिला प्रभारी उपस्थित रहें। बैठक में कोरोना काल में पार्टी द्वारा चलाए गए सेवा कार्य व टीकाकरण अभियान को लेकर समीक्षा की गयी। इस दौरान सुदेश कुमार महतो ने वर्तमान सरकार की नीतियों एवं कामकाज को लेकर सभी नेताओं से बारी-बारी चर्चा की। साथ ही आगामी 22 जून को मनाए जानेवाले संकल्प दिवस के साथ-साथ संगठन के विषयों पर भी विस्तृत चर्चा की गयी।
आज पूरा विश्व कोरोना संकटकाल के दौर से गुजर रहा है। शिक्षा के क्षेत्र में कोरोना का व्यापक असर दिख रहा है। पिछले चौदह महीने से सरकारी स्कूल बंद चल रहे हैं। सरकार और शिक्षा विभाग बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाई करवाने का दावा करती है लेकिन हकीकत के धरातल पर तस्वीर इससे उलट ही नज़र आती है। ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों के पास स्मार्टफोन उपलब्ध नहीं होने के कारण लाखों विद्यार्थी पढ़ाई से दूर जा चुके हैं।
सत्ता में आने से पहले झामुमो ने हर साल पांच लाख युवाओं को रोजगार देने की बात कही थी। लेकिन पिछले डेढ़ वर्षों का अनुभव बताता है कि झामुमो महागठबंधन सरकार के तमाम दावों के विपरीत बेरोजगारी विकराल रुप धारण कर चुकी है। सरकार का सभी दावा केवल खोखला साबित हो रहा है। महागठबंधन की सरकार युवाओं के साथ धोखा कर रही और प्रदेश को बर्बादी की तरफ धकेल रही है।
वर्तमान सरकार कोरोना की दूसरी लहर से लड़ने में पूर्ण रुप से फेल हो गयी। राज्य की जनता ने मंत्रियों के समक्ष लोगों को दम तोड़ते हुए देखा, ऑक्सीजन सिलिंडर और दवाओं के लिए तरसते हुए देखा और सरकार मूकदर्शक बनी रही। राज्य में गरीबी, बेरोजगारी और पलायन चरम पर है। छात्रों और युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।
यास तूफान ने झारखंड के किसानों की कमर तोड़कर रख दी है। तूफान के कारण किसानों को लाखों की क्षति हुई है। आजसू पार्टी सरकार से मांग करती है कि जल्द से जल्द फसल क्षति मुआवजा दिया जाए ताकि किसानों के नुकसान की कुछ भरपाई हो सके।
कोरोना महामारी ने चारों तरफ से लोगों के लिए परेशानी खड़ी कर दी है। बहुत से लोग ऐसे हैं जिनके अपनों की मौत हो गई। घर में जो कमाने वाला था उसकी मौत हो गई। अब घर में कोई कमाने वाला नहीं है। कई बच्चे ऐसे हैं जिनके मां-बाप दोनों चले गए। कई बुजुर्ग हैं जिनके कमाने वाले जवान बच्चे चले गए। आजसू पार्टी यह मांग करती है कि कोरोना से मरने वालों के परिजनों व आश्रितों के लिए सरकार आर्थिक पैकेज की घोषणा करे।
कोरोना जैसे अदृश्य शत्रु से लड़ाई का एकमात्र विकल्प है टीकाकरण। अतः बैठक में यह निर्णय लिया गया कि आजसू पार्टी के नेता और कार्यकर्ता हर गांव-मोहल्ले में टीकाकरण जागरुकता अभियान चलाएंगे।
बैठक के दौरान आजसू पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने सभी नेताओं से अपने-अपने क्षेत्र में ऐसे लोगों की सूची तैयार करने को कहा जिनकी मृत्यु कोरोना की वजह से हुई। उन्होंने कहा कि इन परिवारों को न्याय दिलाने और उनके हक के लिए निर्णायक लड़ाई लड़ने के लिए आजसू पार्टी दृढसंकल्पित है। आजसू पार्टी मृतकों के परिवार के भविष्य की चिंता करती है और उनको मुआवजा दिलाने, भविष्य के लिए आजीविका सुनिश्चित कराने तथा बच्चों के लिए पठन-पाठन की व्यवस्था करने के लिए हर संभव प्रयास करेगी और सदन से लेकर सड़क तक आंदोलन करेगी।
आजसू पार्टी 22 जून को पूरे राज्य में संकल्प दिवस मनाएगी और एक सशक्त एवं समृद्ध झारखंड के निर्माण का संकल्प लेगी। कोरोना संक्रमण की वजह से मरनेवाले दिवंगत आत्माओं एवं झारखंड के वीर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के पश्चात संकल्प दिवस कार्यक्रम की शुरुआत की जाएगी।
वर्तमान में पूरा विश्व, देश और झारखंड कोरोना महामारी के दौर से गुजर रहा है। कोरोना की दूसरी लहर ने हमें ऑक्‍सीजन का महत्‍व बता दिया है। पेड़ लगातार कट रहे हैं लेकिन नए पौधे कम लग रहे हैं। कोरोना संकटकाल में खून का भी घोर अभाव देखने को मिला। झारखंड इस वक़्त भी रक्त की किल्लत से जूझ रहा है। रक्त की कमी की वजह से मरीजों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। आजसू पार्टी ने वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए 22 जून को सभी प्रखण्डों में रक्तदान शिविर लगाने तथा वृक्षारोपण करने का निर्णय लिया है।
आजसू पार्टी ने यह संकल्प लिया है कि झारखंड की जनता को रक्त की कमी से एक बार फिर से जूझने नहीं दिया जाएगा। संकल्प दिवस के अवसर पर प्रत्येक प्रखंड में रक्तदान शिविर का आयोजन किया जाएगा। और प्रत्येक प्रखण्ड में कम से कम 10 यूनिट रक्तदान किया जाएगा।
कोरोना की दूसरी लहर में हमने ऑक्सीजन का महत्व समझा। पर्यावरण में ऑक्सीजन की मात्रा बेहतर बनी रहे, इसमें कोई सबसे बड़ा और लंबे समय तक योगदान दे सकता है तो वह वृक्ष है। आजसू पार्टी ने यह निर्णय लिया है कि संकल्प दिवस के अवसर पर प्रत्येक प्रखंड में कम से कम 100 वृक्ष लगाये जायेंगे। साथ ही इस अवसर पर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की जाएगी एवं नए झारखंड के निर्माण का संकल्प लिया जाएगा।

%d bloggers like this: