अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

गुमला के जंगल में लगातार दूसरे दिन आईईडी ब्लास्ट, एक ग्रामीण की मौत

रांची:- झारखंड में गुमला जिले में बुधवार को लगातार दूसरे दिन आइईडी विस्‍फोट हुआ है। माओवादियों द्वारा छिपाकर लगाये गये आईईडी ब्लास्ट में एक ग्रामीण की मौत हो गयी। मंगलवार को इसी मरवा जंगल के इलाके में लैंड ब्लास्ट की घटना में सीआरपीएफ कोबरा बटालियन के डॉग हैंडलर जवान विश्वजीत कुंभकार बुरी तरह से जख्मी हो गयी थे,जबकि डॉग स्क्वायड के सदस्य डॉग ड्रोण की मौत हो गयी थी।
प्राप्त जानकारी के अनुसार चैनपुर थाना क्षेत्र के रागानी जंगल में सुबह रामेश्वर मुंडा प्रतिदिन की भांति खुखड़ी (मशरुम) सब्जी लाने लाया गया था, लेकिन माओवादियों ारा जंगली रास्ते में जमीन के अंदर छिपाकर बिछाये गये आईईडी पर पांव पड़ते ही ब्लास्ट हो गया और विस्फोट की घटना में मौके पर ही उसकी मौत हो गयी। विस्फोट की आवाज सुनकर रामेश्वर के साथ जंगल में गये अन्य ग्रामीण जंगल से बाहर की ओर भागे और घटना की जानकारी की पुलिस को दी गयी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को जंगल से उठाकर गुमला थाना पहुंचाया।
माओवादियों ने इस इलाके में सुरक्षाबलों को नुकसान पहुंचाने की नीयत से केरागानी-मारवा जंगल में कई स्थानों पर आईईडी बम को छिपाकर रखा गया है,ताकि माओवादियों को पकड़ने के लिए जैसे ही पुलिस सर्च ऑपरेशन चलाएं, आईईडी ब्लास्ट से सुरक्षा बलों को नुकसान उठाना पड़े। लेकिन माओवादियों की इस करतूत में समय-समय पर कई ग्रामीणों की भी जान चली जाती है। आसपास में रहने वाले ग्रामीण अक्सर जंगल में सूखी लकड़ी चुनने के लिए जाते है और वे इसकी चपेट में आ जाते है। एक दिन पूर्व मंगलवार को इसी इलाके में नक्सलियों द्वारा लगाए गए बम की चपेट में आने से कोबरा का जवान घायल हो गया है। जवान रांची स्थित मेडिका अस्पताल में उपचाराधीन है,जबकि खोजी कुत्ता भी शहीद हो गया था।

%d bloggers like this: