अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कतरास में सौ साल पराना मकान धराशायी, एक की महिला की मौत, तीन का किया गया रेस्क्यू


रांची:- कतरास के भगत मोहल्ला निवासी प्रदीप गुप्ता का का गुरुवार की रात करीब साढ़े आठ बजे दो मंजिला मकान धराशायी हो गया। मलबे में 58 वर्ष के प्रदीप, 51 साल की पत्नी बेबी देवी व 17 साल का पुत्र सुधांशु दब गया। नगर निगम व बीसीसीएल की रेस्क्यू टीम मलबे से पहले पिता व पुत्र व अंत में बेबी देवी को निकाल लिया। तीनों को निचितपुर अस्पताल इलाज को भेजा गया है। मगर बेबी की जान नहीं बच सकी। बगल के भी दो मकानों को
भी नुकसान पहुंचा, एक की सीढ़ी ढह गई। स्थानीय लोगों ने बताया कि मकान करीब सौ साल पुराना है। यह जर्जर भी हो गया था। इन दिनों बारिश भी हो रही है। सीलन के कारण मकान की छत और भारी होती गई। इस कारण उनका भार कमजोर दीवारें नहीं उठा सकीं और वह भरभराकर ढह गया। पूरे मोहल्ले में इस घटना से हड़कंप मच गया है।
ऐसे हुई घटना रू मकान में प्रदीप अपनी पत्नी व पुत्र के साथ मौजूद थे। अचानक तेज आवाज के साथ घर की छत गिरने लगी, दीवारें भी दरकने लगीं। यह देख तीनों जान बचाने के लिए घर के बाहर की ओर भागे। दरवाजे तक ही पहुंचे थे कि छत व दीवारें गिर गईं। भागते वक्त बेबी पीछे रह गई थी। देखते ही देखते मलबे में तीनों दब गए। पूरे मोहल्ले में कोहराम मच गया। सभी घटनास्थल की ओर दौड़े। प्रदीप के स्वजन भी सूचना पाकर पहुंचे।
तीनों को निकालने का प्रयास शुरू हो गया। मगर बगल के दो मकानों को हुई क्षति को देख बेहद सतर्कता से पुलिस व मोहल्ले वाले बचाव कार्य कर रहे थे। तब तक नगर निगम के दर्जन भर कर्मी आ गए। मशक्कत काम आई और उन्होंने नौ बजकर 40 मिनट पर प्रदीप गुप्ता को निकालने में सफलता पा ली। 10 बजकर नौ मिनट पर सुधांशु को भी निकाल लिया। बेबी को रात सवा ग्यारह बजे निकाला गया। उनको भी निचितपुर अस्पताल भेजा गया, वहां डा. उमाशंकर ने मृत घोषित कर दिया। इसे दोनों बिटिया की किस्मत ही कहिए कि वे घटना से कुछ देर पहले घर से निकली थीं। पड़ोस में रह रहे उनके स्वजन ने उनको फोन कर बुलाया तो उनके यहां गई थीं। उनके निकलते ही घटना हो गई। मौके पर डीएसपी निशा मुर्मू, विधायक ढुलू महतो, निर्वतमान पार्षद विनायक गुप्ता समेत अनेक मोहल्ले वाले मौजूद थे।

%d bloggers like this: