अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

हार्ड-प्रूनिंग तकनीक से विशाल पीपल वृक्ष को मिला नया जीवन

पटना:- बिहार में पटना जिले के मोकामा स्थित केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के कैंप परिसर ग्रुप केंद्र में आंधी से गिरे विशाल पीपल वृक्ष को हार्ड-प्रूनिंग तकनीक से नया जीवनदान दिया गया है।
पुलिस उप महानिरीक्षक (ग्रुप केंद्र) सुनीत कुमार राय ने शनिवार को यहां बताया कि केंद्र में मौजूद एक विशाल पेड़ हाल ही आए तेज आंधी के कारण गिर गया। किसी भी वृक्ष के उखड़ कर गिरने के बाद भी उसमें जीवन बचा रहता है। वैज्ञानिक तरीके से यदि वृक्ष के अतिरिक्त तने को हटाकर हार्ड प्रूनिंग तकनीक के जरिए उसे उसी जगह पुन: रोपित कर दिया जाए तो उसकी जान को बचाया जा सकता है। श्री राय ने कहा कि कहते हैं एक पेड़ सौ पुत्रों के समान होता है। इसलिए व्यक्ति को अपने जीवनकाल में एक पौधे को जरूर लगाना चाहिए। क्योंकि इन्हीं पेड़ पौधों की बदौलत हमारा जीवन सुरक्षित है। ऐसे में हार्ड-प्रूनिंग तकनीक वृक्षों के लिए किसी वरदान से कम नहीं। जब एक विशाल वृक्ष मरता है तो उससे पर्यावरण एवं ऑक्सीजन की क्षतिपूर्ति को पूरा करने में दो से तीन दशक लग जाते हैं। उप महानिरीक्षक ने हार्ड-प्रूनिंग तकनीक की चर्चा करते हुए कहा कि इस प्रक्रिया में सबसे पहले गिरे पेड़ के जड़ के पास आवश्यक पोषक तत्व ,खाद के साथ मिट्टी तैयार की जाती है, गड्ढे को बनाया जाता है और फिर इसमें वृक्ष को फिर से रोपित कर दिया जाता है। उक्त स्थान पर एंटी बैक्टेरियल औषधियों का लेपन करने से वृक्ष को किसी भी प्रकार के संक्रमण से बचाया जा सकता है। इस प्रकार उखड़े वृक्षों को आसानी से पुनर्जीवन दिया जा सकता है।

%d bloggers like this: