May 11, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

45 वर्ष से कम उम्र के एसिंप्टोमेटिक एवं हल्के लक्षण वालें को मिलेगी होम आइसोलेशन की अनुमति

धनबाद:- 45 वर्ष से कम उम्र के एसिंप्टोमेटिक तथा कोरोना के हल्के लक्षण वाले मरीजों को होम आइसोलेशन की सुविधा प्रदान की जाएगी। इसके लिए मरीज को अपने मोबाइल फोन पर हिम्मत एप डाउनलोड करना होगा। कोविड कंट्रोल रूम से मरीज की नियमित ट्रैकिंग होगी। टेलीमेडिसिन से उन्हें चिकित्सीय परामर्श भी प्रदान किया जाएगा। सभी इंसिडेंट कमांडर प्रतिदिन अपने-अपने क्षेत्र के मरीजों का औचक निरीक्षण करेंगे। होम आइसोलेशन की शर्तों का उल्लंघन करने वाले मरीजों को तत्काल अस्पताल में शिफ्ट किया जाएगा। कोविड के गंभीर लक्षण वाले मरीजों को किसी भी परिस्थिति में होम आइसोलेशन की सुविधा उपलब्ध नहीं कराई जाएगी।
उपरोक्त निर्देश उपायुक्त उमा शंकर सिंह ने आज कोविड वार रूम से होम आइसोलेशन को लेकर आयोजित ऑनलाइन समीक्षा बैठक में सभी इंसिडेंट कमांडर एवं एमओआईसी को दिया।
उपायुक्त ने कहा कि मृत्यु दर को कम करने के उद्देश्य से कोरोना के गंभीर लक्षण वाले मरीजों को किसी भी परिस्थिति में होम आइसोलेशन की अनुमति नहीं दी जाएगी। समीक्षा के दौरान उन्होंने पाया कि होम आइसोलेशन की शर्तों को पूरा नहीं करने वाले 43 आवेदन रिजेक्ट हुए हैं। इस पर विशेष नजर रखते हुए इन मरीजों को तुरंत अस्पतालों में भर्ती करने का निर्देश दिया।
उपायुक्त ने कहा कि इंसिडेंट कमांडर एवं एमओआईसी गतिशील रहेंगे और होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों पर पैनी निगाह रखेंगे तो मृत्यु दर में कमी आएगी। वे हर दिन मरीज से पूछताछ करे, औचक निरीक्षण करे। जो मरीज होम आइसोलेशन के नियमों की अवहेलना करते हैं उसको गंभीरता से लेकर वैसे मरीजों पर अविलंब प्राथमिकी दर्ज कराएं और उन्हें अस्पताल में शिफ्ट करें। मरीजों को पल्स ऑक्सीमीटर, दवाइयां, थर्मोमीटर के साथ मेडिकल किट भी उपलब्ध कराएं।
उपायुक्त ने कहा कि प्रतिदिन धनबाद रेलवे स्टेशन पर देश के विभिन्न राज्यों से बड़ी संख्या में यात्री आते हैं। सब यात्रियों की कोविड जांच की जाती है। जांच के क्रम में एसिंप्टोमेटिक तथा कोरोना के हल्के लक्षण वाले युवाओं को होम आइसोलेशन की सुविधा आज से ही प्रदान करें। उनके परिवार के सदस्य के मोबाइल पर हिम्मत एप डाउनलोड कराए। कंट्रोल रूम से स्वीकृति मिलने के बाद मरीज को एंबुलेंस में उनके घर भेजें।
उपायुक्त ने कहा होम आइसोलेशन के लिए मरीज को अपना पूरा नाम, पता, मोबाइल नंबर इत्यादि की सही जानकारी देनी होगी गलत जानकारी देने वाले मरीजों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी साथ ही उन्हें सीधे हॉस्पिटल इलाज के लिए भर्ती करा दिया जाए।
ऑनलाइन समीक्षा बैठक में उपायुक्त के साथ होम आइसोलेशन के नोडल पदाधिकारी रूपेश मिश्रा, डीएमएफटी ऑफिसर शुभम सिंघल भी उपस्थित थे।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: