अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

हिमाचल जैविक कृषि पर जोर दे : मोदी


नयी दिल्ली:- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हिमाचल प्रदेश में जैविक कृषि किये पर जोर देते हुए सोमवार को कहा कि इससे न केवल लोगों का स्वास्थ्य बेहतर होगा बल्कि किसानों को भी उनके उत्पाद का भरपूर लाभ मिल सकेगा।श्री मोदी ने हिमाचल प्रदेश के सभी 55 लाख से अधिक पात्र लोगों को कोविड टीके का पहला डोज लगाये जाने का कार्य पूरे किये जाने के बाद इसके उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम को वीडियो कांफ्रेंसिंग से सम्बोधित करते हुए कहा कि इस राज्य को अगले 25 साल में रसायन मुक्त हो जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि हिमाचल में सामर्थ्य है और उन्हें यहां के युवाओं पर पूरा विश्वास है। जिस प्रकार से यहां के युवाओं ने देश की सीमाओं की सुरक्षा की है उसी प्रकार से वे यहां की मिट्टी की सुरक्षा भी करेंगे और इसमें किसान अग्रणी भूमिका निभायेंगे ।
प्रधानमंत्री ने कहा कि हिमाचल को एक लाख करोड़ रुपये के कृषि आधारभूत संरचना कोष का पूरा लाभ उठाना चाहिये और इसकी मदद से कोल्ड स्टोरेज तथा खाद्य प्रसंस्करण संयंत्र की स्थापना कर स्थानीय उत्पाद का भरपूर लाभ लेना चाहिये। उन्होंने कहा कि सरकार आधुनिक सम्पर्क साधनों के विस्तार पर जोर दे रही है तथा सड़क , रेल , हवाई और इंटरनेट सेवाओं के विस्तार को प्राथमिकता दी जा रही है। इससे पर्यटन के साथ-साथ किसानों, शिक्षा और स्वस्थ्य क्षेत्र को भारी लाभ हो सकता है।
उन्होंने कहा कि सरकार ने ड्रोन तकनीक के नियम को आसान बनाया है जिससे हिमाचल में कृषि क्षेत्र के नयी संभावनाओं का विस्तार हो सकता है। घरों तक दवाओं को आसानी से पहुंचाने के साथ ही बाग बगीचों और जमीन के सर्वेक्षण में फायदा हो रहा है। ड्रोन तकनीक के उपयोग से पर्वतीय क्षेत्र का जीवन आसान हो सकता है और वन क्षेत्र की सुरक्षा भी की जा सकती है । श्री मोदी ने कहा कि हिमाचल की महिलायें स्वयं सहायता समूह के माध्यम से ऑनलाइन प्लेटफार्म के जरिये स्थानीय उत्पाद देश विदेश में बेच सकती हैं। सेब, संतरा, किन्नू और सब्जियों की मांग बढ़ रही है। वन संम्पदा और जड़ी बूटियों को लेकर भी इस प्रयास को तेज किये जाने की जरुरत है।
उन्होंने कोरोना संकट की चर्चा करते हुए कहा कि एक सौ वर्षों की सबसे बड़ी महामारी के विरुद्ध लड़ाई में हिमाचल प्रदेश चैम्पियन बनकर उभरा है। देश का यह पहला राज्य है जहां पात्र लोगों को कोविड रोधी पहला टीका लगा दिया गया है और एक तिहाई आबादी को दूसरा डोज भी लग गया है। देश में एक दिन में सवा सौ करोड़ टीके लगा कर रिकार्ड बनाया गया है। सबके प्रयास से यह संभव हो सका है।
उन्होंने कहा कि सिक्किम और दादर नागर हवेली में भी टीके का पहला डोज लग गया है और कई राज्य इसके काफी निकट हैं । उन्होंने कहा कि कठिन भौगोलिक स्थितियों के बावजूद टीकाकरण का यह लक्ष्य जनभागीदारी से पूरा हो सका है। इसमें महिलाओं की भारी भूमिका है। उन्होंने कहा कि टीके को लेकर अफवाह को हिमाचल टिकने नहीं दिया।
प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में टीके के अब तक 70 करोड़ डोज लगाये गये है और इसको लेकर किसी भी तरह की उदासीनता से बचने की जरुरत है।

%d bloggers like this: