June 17, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

उच्च न्यायालय ने ईएसआईसी अस्पताल बिहटा में उपलब्ध सुविधाओं का ब्यौरा मांगा

पटना:- पटना उच्च न्यायालय ने बिहटा स्थित ईएसआईसी अस्पताल में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए उपलब्ध सुविधाओं का पूरा ब्यौरा मांगा है । पटना उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश संजय करोल की खंडपीठ ने कोरोना महामारी से संबंधित जनहित याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए राज्य सरकार के नोडल अधिकारी को ईएसआईसी अस्पताल में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी देने का निर्देश दिया । अदालत ने अस्पताल में उपलब्ध डॉक्टर, स्टाफ, ऑक्सीजन, बेड और अन्य सुविधाओं के बारे में जानकारी मांगी है।
ईएसआईसी अस्पताल की ओर से हलफनामा दायर कर बताया गया कि कोरोना मरीजों के ईलाज के लिए सुविधाओं की कमी हैं।डॉक्टरों की एक टीम ने 29 और 30 अप्रैल को अस्पताल का निरीक्षण किया था । वहां आवश्यक सुविधाओं के उपलब्ध नहीं होने के कारण कोरोना मरीजों के ईलाज में परेशानी हो रही हैं। वहां डॉक्टर 25 अप्रैल से आए हुए हैं,लेकिन इलाज के लिए सारी सुविधाएं उपलब्ध नहीं है ।
उच्च न्यायालय ने पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल पीएमसीएच सफाई व्यवस्था को लेकर भी सरकार से जानकारी मांगी । अदालत को बताया गया कि अस्पताल में सफाई कर्मियों की बहुत कमी है । अस्पताल को सफाई व्यवस्था के लिए आउट सोर्सिंग पर निर्भर रहना पड़ता है। अदालत ने राज्य सरकार से यह भी जानना चाहा कि पटना के मेदांता अस्पताल में कोरोना मरीजों के लिए इलाज की व्यवस्था शुरू हुई या नहीं। इस मामले में अब अगली सुनवाई 25 मई को होगी ।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: