June 14, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कोरोना केस सुनवाई में हाईकोर्ट ने लगायी फटकार, कहा- लोग मर रहे हैं, लेकिन रिम्स और सरकार कर रही हैं मीटिंग

रेमडेसिवीर और ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी मामले में भी हुई सुनवाई

रांची:- झारखंड उच्च न्यायालय में गुरुवार को कोरोना से जुड़ी विभिन्न याचिकाओं पर सुनवाई हुई। रांची के सबसे बड़े सरकारी अस्पताली राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान, रिम्स में सिटी स्कैन मशीन समेत अन्य जरूरी उपकरणों की उपलब्धता नहीं सुनिश्चित होने पर अदालत ने कड़ी नाराजगी जाहिर की। अदालत ने मौख्कि टिप्पणी करते हुए कहा कि लोग मर रहे हैं और सरकार तथा रिम्स प्रबंधन मीटिंग कर रही हैं।
झारखंड उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति डॉ0 रवि रंजन और न्यायमूर्ति सुजीत नारायण प्रसाद की खंडपीठ ने याचिका पर सुनवाई करते हुए मौखिक रूप से कहा-आपलोग सीरियस नहीं है। इससे पहले रिम्स की ओर से खंडपीठ को बताया कि सिटी स्कैन मशीन और अन्य जरूरी मेडिकल उनपकरणों की खरीद की प्रक्रिया पूरी की ली गयी है। जिस पर अदालत ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि जल्द से जल्द उपकरणों की डिलीवरी सुनिश्चित करें और रिम्स और सरकार यह पूरी कोशिश करें कि जितनी जल्दी हो सके सके, सारे उपकरण आ जाएं। अदालत ने रिम्स को यह भी निर्देश भी दिया कि उपकरणों को इनस्टॉल करने की तैयारी पूर्व में ही कर ली जाए। इस मामले में अगली सुनवाई एक सप्ताह बाद निर्धारित की गयी है। अदालत ने रिम्स निदेशक को यह भी निर्देश दिया कि आज ही सरकार के बैठक कर सभी समस्याओं का हल निकाल लिया जाए। रिम्स की ओर से भी कोर्ट को यह आश्वासन दिया गया कि उपकरण खरीद से जुड़ी हुई सभी बिन्दुओं पर आज हल निकाल लिया जाएगा।
अधिवक्ता धीरज कुमार ने बताया कि हाईकोर्ट में आज रेमडेसिवीर इंजेक्शन कालाबाजारी मामले में भी सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान अदालत ने सीआईडी के एडीजी को अगली तिथि में अदालत के समक्ष उपस्थित रहने का निर्देश दिया गया। इस मामले में जुड़ी सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने कहा कि प्रथम दृष्टया ऐसा लग रहा है कि रांची के ग्रामीण एसपी भी इस प्रकरण में सम्मिलित है। साथ ही अदालत ने तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा कि अब तक की जांच देखकर ऐसा लग रहा है कि बड़ी मछलियों पर केंद्रित न होकर यह जांच सिर्फ छोटी मछलियों पर की जा रही है। सरकार की ओर से अदालत में इस मामले की अब तक की जांच रिपोर्ट सीलबंद लिफाफे में सौंप दी गयी।
हजारीबाग जिले में पिछले दिनों ऑक्सीजन सिलेंडर की चोरी मामले में राज्य सरकार ने खंडपीठ को बताया कि इस मामले में दो लोगां के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गयी और जांच की जा रही है। जिसकी भी संलिप्तता इस मामले में होगी,उसके खिलाफ सरकार सख्त कार्रवाई करेगी।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: