January 17, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

हाईकोर्ट ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले पर जताई चिंता

जांच में तेजी लाने का निर्देश

राँची:- कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण एवं जांच में धीमी गति पर झारखंड उच्च न्यायालय काफी गंभीर दिखा, स्वत संज्ञान मामले में सुनवाई करते हुए मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति और न्यायमूर्ति सुजीत नारायण प्रसाद की खंडपीठ ने राज्य सरकार द्वारा कोरोना संक्रमण के जांच प्रक्रिया में शिथिलता एवं विलंब से जांच रिपोर्ट आने पर चिंता जाहिर की है साथ ही राज्य सरकार से राज्य के विभिन्न वैसे जिलों में जहां अभी तक जांच की प्रक्रिया शुरू नहीं की गई है अभिलंब जांच प्रक्रिया में तेजी लाने एवं जांच का दायरा बढ़ाने को कहा है।
इस मामले में अधिवक्ता धीरज कुमार की ओर से हस्तक्षेप याचिका दाखिल किया गया जिसमें कोरोनावायरस के संक्रमित के इलाज में प्लाज्मा थेरेपी के लिए रिम्स सहित राज्य के अन्य प्रमुख चिकित्सा महाविद्यालयों वह अस्पतालों में प्लाज्मा बैंक तैयार करने व संग्रहित करने के लिए पर्याप्त मात्रा में एफरेसिस मशीन व टेक्निशियंस उपलब्ध कराने की मांग की है ,जिस पर माननीय खंडपीठ ने राज्य सरकार को विचार करने का निर्देश दिया।
इस मामले में अधिवक्ता धीरज कुमार की ओर से एक और हस्तक्षेप याचिका दाखिल किया गया। जिसमें कोरोना वायरस के संक्रमित के इलाज में प्लाज्मा थेरेपी के लिए रिम्स सहित राज्य के अन्य प्रमुख चिकित्सा महाविद्यालयों वह अस्पतालों में प्लाज्मा बैंक तैयार करने और स्टोर करने के लिए पर्याप्त मात्रा में एफरेसिस मशीन, टेक्निशियंस उपलब्ध कराने की मांग की है। जिस पर माननीय खंडपीठ ने राज्य सरकार को विचार करने का निर्देश दिया।

Recent Posts

%d bloggers like this: