अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

हाईकोर्ट ने पूछा-ईडी बताएं संजीवनी घोटाले के पीड़ित को किस विधि से वापस किये जाएंगे पैसे

रांची:- झारखंड उच्च न्यायालय में संजीवनी बिल्डकॉन के एक पीड़ित की याचिका पर आज सुनवाई हुई। अदालत ने सुनवाई के दौरान प्रवर्त्तन निदेशालय, ईडी से पूछा कि पीड़ित को उसके पैसे किस विधि से वापस किये जाएंगे। अदालत ने 6 सप्ताह के अंदर ईडी को इस मसले पर जवाब देने का निर्देश दिया है।
उच्च न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति राजेश शंकर की अदालत में आरके त्रिवेदी द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान अदालत ने कहा कि पीड़ित को उसका पैसा वापस किया जाना चाहिए, लेकिन जिस संस्था ने याचिकाकर्ता से पैसा लिया है,उसकी संपत्ति ईडी ने अटैच की है। ऐसे में पीड़ित को पैसा किस विधि से वापस किया जाएगा, यह जानकारी ईडी शपथपत्र के माध्यम से अदालत को दें।
गौरतलब है कि संजीवनी बिल्डकॉन पर झारखंड के अलग-अलग जिलों के सैकड़ों लोगों से भूमि और मकान देने के नाम पर करोड़ों रुपये ठगी करन ेका आरोप है। फिलहाल इस मामले की जांच सीबीआई और ईडी कर रही है। इस मामले में संजीवनी के कई निदेशक समेत दो दर्जन से ज्यादा लोगों पर मुकदमे दर्ज हैं। इनमें से कई लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है और कुछ फिलहाल जमानत पर है। लेकिन पूरे घोटाले के मास्टर माइंड माना जाने वाला जेडी नंदी और ओपी लाला को सीबीआई और ईडी दोनों ही एजेंसियां अब तक नहीं पकड़ पायी है। संजीवनी बिल्डकॉन घोटाला झारखंड का सबसे बड़ा भूमि घोटाला माना जाता है।

%d bloggers like this: