भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करते हुए रांची लोकसभा क्षेत्र के हटिया विधानसभा के अंतर्गत संत फ्रांसिस स्कूल के बूथ के अंदर झारखंड मुक्ति मोर्चा का पट्टा को पहन कर वोट दिया। इसके बाद श्री हेमंत सोरेन ने बूथ के बाहर आकर (परिसर के भीतर) अपनी तस्वीरें भी खिंचवाई जिसमें वह झारखंड मुक्ति मोर्चा का पट्टा पहने हुए हैं। यह चुनाव आयोग के आदर्श आचार संहिता का घोर उल्लंघन है। भारतीय जनता पार्टी ने इस मुद्दे पर चुनाव आयोग से शिकायत की है कि वो अविलम्ब कार्रवाई करें।

हेमंत सोरेन का यह कहना भी बिल्कुल हास्यास्पद है कि उन्हें किसी अधिकारी ने ऐसा करने से नहीं रोका*।प्रतुल ने कहा कि हेमन्त जी को जानना चाहिए की कानून का सिद्धांत है कि Ignorance of Law is no excuse । यानी आप यह कह कर नहीं बच सकते आपको कानून की जानकारी नहीं है और आपको किसी अधिकारी ने नही रोका।और हेमंत पूर्व मुख्यमंत्री रह चुके हैं। उन्होंने चुनाव के दिन बूथ के भीतर और बाहर पार्टी का सिंबल वाला पट्टा लगाकर अपनी पार्टी का प्रचार करने का प्रयास किया है । चुनाव आयोग को इस पर संज्ञान ले कर कार्यवाही करनी चाहिए।
हेमंत सोरेन के खिलाफ चुनाव आयोग में भाजपा ने किया शिकायत ।

अपने बूथ पर पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और उनकी पत्नी गले में झामुमो का पट्टा डालकर वोट डालने पहुंचे ।यह आचार संहिता का उल्लंघन है इस पर कड़ी आपत्ति जताते हुए भाजपा ने मुख्य चुनाव पदाधिकारी को शिकायत दर्ज कराई और मांग किया कि जल्द से जल्द हेमंत के खिलाफ कार्रवाई किया जाय।

Leave a Reply

%d bloggers like this: