May 11, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

केंद्र से मिली सहायता नाकाफी, झारखंड पर विशेष ध्यान देने की जरुरत-वित्तमंत्री

रांची:- झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सह राज्य के वित्त तथा खाद्य आपूर्ति मंत्री डॉ0 रामेश्वर उरांव ने कहा कि कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए केंद्र सरकार की ओर से विभिन्न राज्यों को करीब 8000 करोड़ रुपये जारी किये गये है, जिसमें झारखंड को भी लगभग 227करोड़ मिले हैं, जो नाकाफी है। डॉ0 रामेश्वर आज रांची में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।
डॉ0 रामेश्वर उरांव ने कहा कि उच्चतम न्यायालय और हाईकोर्ट की ओर से भी कोरोना संक्रमण को लेकर केंद्र सरकार के रवैये पर लगातार कई टिप्पणियां की जा रही है। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से पूछा है कि वह खुद कोरोना वैक्सीन खरीद कर राज्य सरकारों को क्यों नहीं उपलब्ध करा रही है, कम से कम अदालत के आदेश के बाद तो सरकार को सजग होना चाहिए। झारखंड समेत अन्य राज्यों को कोविड वैक्सीन उपलब्ध कराना चाहिए। उन्होंने बताया कि आज से देशभर में 18 से 45वर्ष आयु वर्ग के लोगों के लिए भी टीकाकरण शुरू होना था, लेकिन झारखंड में नहीं शुरू हो पाया,क्योंकि टीका बनाने वाली कंपनियों ने 15 मई के पहले टीका उपलब्ध कराने में असमर्थता जतायी है।
वित्तमंत्री ने कहा कि झारखंड सरकार की ओर से करीब साढ़े छह लाख वैक्सीन के लिए कंपनियों के राशि भी उपलब्ध करा दी गयी है, इसके बावजूद वैक्सीन नहीं मिल पाने के कारण यह स्थिति उत्पन्न हुई है। उन्होंने कहा कि वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों को प्रोडक्शन बढ़ाना चाहिए। भाजपा नेताओं को भी चाहिए कि वह केंद्र सरकार और इन कंपनियों की तरफदारी छोड़की जनता की आवाज को उठाये। उन्होंने भाजपा सांसदों और नेताओं को यह भी सुझाव दिया कि वे केंद्र सरकार पर दबाव बनाने का काम करें कि जल्द से जल्द वैक्सीन झारखंड को मिल सके।
डॉ0 रामेश्वर उरांव ने कहा कि अभी कोरोना संक्रमण के कारण कई सख्तियां बढ़ायी गयी है, ऐसे में राज्य सरकार के रिसोर्स पर भी असर पड़ेगा, राजस्व में कमी की समस्या से भी झारखंड जैसे राज्यों को जूझना पड़ रहा है, इसलिए केंद्र सरकार से विशेष ध्यान देने का आग्रह है।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: