April 13, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कैंटीन भत्ता बंद किये जाने के खिलाफ एचईसी कर्मियों का प्रदर्शन

रांची:- एचईसी में कामगारों ने एक बार फिर से काम बंद कर दिया है। कामगार कंपनी के एचएमबीपी प्लांट के बाहर प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन कर रहे हैं। एचईसी हटिया मजदूर यूनियन सीटू के नेता राजेंद्र महतो ने बताया कि कोरोना संक्रमण के पहले फेज के दौरान कैंटीन बंद कर कामगारों को 35 रूपए प्रतिदिन के हिसाब से कैंटीन भत्ता दिया जा रहा था। जो अचानक से प्रबंधन के फरवरी माह से बंद कर दिया है। कंपनी एक्ट के मुताबिक कंपनी में काम करने वाले कामगारों एचईसी को खाना या खाने के एवज में पैसा देना है। मगर कंपनी ऐसा नहीं कर रही है। इससे कामगारों में बड़ी नाराजगी है। कल प्रबंधन से बात करने के बाद भी कोई हल नहीं निकला लिहाजा मजदूरों ने काम बंद कर दिया है। फिलहाल कंपनी के एचएमबीपी प्लान के बाहर प्रदर्शन हो रहा है, मगर थोड़े देर में सभी प्लांटों में काम बंद कर दिया जाएगा। वहीं हटिया मजदूर यूनियन सीटू के नेता भवन सिंह ने कहा कि कामगारों का कैंटीन भत्ता फिर से शुरू होने तक कामगार प्लांट में नहीं लौटेंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर तेजी से फैल रही है। एचईसी एरिया में बड़ी संख्या में लोग इस संक्रमण के ग्रसित हो गए हैं। ऐसे में कंपनी ने कैंटीन भी नहीं खोला है और कामगारों का भत्ता भी काट लिया है। प्रबंधन को संक्रमण को देखते हुए कैंटीन खोलने के बजाए, भत्ता फिर से चालू करना होगा। उन्होंने कहा कि दूसरे यूनियनों का कहना है कि कैंटीन भत्ता में 27 लाख का खर्च है और कैंटीन के संचालन में 17लाख का खर्च। मगर बड़ी बात ये हैं कि कोरोना से संक्रमित हो जाने के बाद कामगारों की मदद कैसे की जाएगी। मेकान कालोनी में फैले संक्रमण के देखकर से एचईसी प्रबंधन को विचार करना चाहिए।

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: