May 9, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

स्वास्थ्य मंत्री ने पीपीई किट पहन कर अस्पताल का किया निरीक्षण, मरीजों की परेशानियों को समझा

रांची:- राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने आज रांची स्थित सदर अस्पताल का निरीक्षण किया। इस मौके पर उन्होंने सदर अस्पताल में बनाए गए विशेष कोविड-19के लिए आईसीयू वार्ड का निरीक्षण किया। निरीक्षण करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार के लिए लगातार प्रयास जारी है। उन्होंने कहा कि मरीजों के सिम्टम्स के आधार पर उन्हें आईसीयू और जनरल वार्ड में शिफ्ट करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि कुछ मरीजों को जल्द से जल्द छुट्टी देने की भी जरूरत है ताकि दूसरे मरीजों के लिए बेड उपलब्ध रहे। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि अस्पताल में वेंटिलेटर बढ़ाने की जरूरत है। इसके लिए दूसरे जिलों से भी संपर्क किया जा रहा है साथ ही भारत सरकार को भी पत्र लिखा गया है।
इधर, हजारीबाग के पवन गुप्ता ने रांची सदर अस्पताल में दम तोड़ दिया। पहले उनका इलाज हजारीबाग के निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था। जब उनकी तबीयत में सुधार नहीं हुआ तो परिजन आज निजी एंबुलेंस में लादकर रांची पहुंचे। उन्हें सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। सबसे पहले परिजन राज अस्पताल गए लेकिन वहां बेड उपलब्ध नहीं था। फिर बदहवाशी में सदर अस्पताल पहुंचे लेकिन तबतक देर हो चुकी थी। लाचार सिस्टम 60 वर्षीय कोरोना संक्रमित मरीज को निगल चुका था. सदर अस्पताल के चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।इसी बीच परिजनों की नजर सदर अस्पताल में कोविड व्यवस्था का निरीक्षण करने पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता पर पड़ गई. फिर क्या था। परिजनों का गुस्सा फूट पड़ा. परिजनों ने कहा कि जब वोट की बारी आती है तो नेताओं को जनता की याद आती है।लेकिन जब जनता दिक्कत में होती है तो नेता सबकुछ भूल जाते हैं। बेटी चीख चीख कर कह रही थी कि क्या स्वास्थ्य मंत्री मेरे पिता को वापस कर सकते हैं. परिजनों ने कहा कि आधे घंटे से पवन गुप्ता एंबुलेंस में पड़े थे।परिजन डॉक्टरों से इलाज की गुहार कर रहे थे।इस बीच पवन गुप्ता की सांसे उखड़ती जा रही थी।उनकी बेटी ने कहा कि उनके पिता को लाचार सिस्टम ने निगल लिया।उनकी तड़प तड़प कर मौत हुई।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: