अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बस्ती मे सरयू लाल निशान से आधा मीटर ऊपर


बस्ती:- उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले में सरयू नदी का जल स्तर एक बार फिर तेजी से बढ़ रहा है और सोमवार सुबह नदी का जल स्तर खतरे के निशान से 49 सेमी ऊपर था। केन्द्रीय जल आयोग के सूत्रों ने बताया कि सरयू नदी का जल स्तर खतरे के बिन्दु 92.730 के बदले 93.220 पर बह रही है। बढ़ रहे जलस्तर से क्षेत्र में बाढ़ का खतरा बना हुआ है जिससे विक्रमजोत क्षेत्र में तटबंध विहीन गांवों के साथ-साथ आसपास के गांवों को लोग सहमे हुए हैं। अतिसंवेदनशील तटबंध कटरिया चांदपुर एवं गौरा सैफाबाद तटबंध पर नदी का दबाव तेज बना हुआ है। संवेदनशील स्थानों पर बाढ़ कार्य खंड के कर्मी लगातार निगरानी कर रहे हैं। बाढ़ के पानी से घिरे सूविखा बाबू, कुरमियाना एवं नदी के दूसरी तरफ माझा किताअव्वल ग्राम पंचायत के आधा दर्जन मजरे बाढ़ के पानी से मैरूंड हैं। बाढ़ के पानी की जद में सतहा, बलूईया व विशुनदासपुर की हरिजन आबादी भी आ गई है,कटरिया-चांदपुर तटबंध पर बने ठोकर नंबर एक पर तेज दबाव बना हुआ है। गौरा-सैफाबाद तटबंध पर टकटकवा से लेकर दलपतपुर गांव तक नदी तेज दबाव बनाए हुए है। विकास खण्ड गौर के उत्तरी छोर पर स्थित माझा मानपुर ग्राम पंचायत का सम्र्पक जिला तथा ब्लाक मुख्यालय से कट गया है। मौसम विभाग द्वारा 30 अगस्त तक भारी बारिश होने का अर्लट जारी किया था लेकिन दो दिनो मे केवल कुछ स्थानों पर तेज हवाओं के साथ बौछारे पड़ी है। बाढ़ की पानी से नौरहनी घाट के आसपास गांव मे लगभग 280 बीघा फसल बाढ़ की पानी मे बह गया है अगर यही हाल रहा तो बचे हुए फसल बाढ़ की पानी से बह जायेगा।

%d bloggers like this: