January 22, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

3 जनवरी को प्रथम महिला शिक्षिका दिवस मनाने की घोषणा करे सरकार-राजेश गुप्ता

रांची:- देश की प्रथम शिक्षिका माता सावित्रीबाई फुले की 190वीं जयंती समारोह आशीर्वाद भवन में मनाया गया। समारोह का शुभारंभ राष्ट्रीय ओबीसी मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष राजेश कुमार गुप्ता ने दीप प्रज्वलित कर व माता सावित्रीबाई फुले के तस्वीर पर माल्यार्पण कर किया। समारोह को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष राजेश कुमार गुप्ता ने कहा माता सावित्रीबाई फुले देश की प्रथम शिक्षिका ही नहीं महिलाओं के सशक्तीकरण की एक बड़ी नींव थी। जिन्होंने समाज के लिए सर्वस्व त्याग कर समाज में व्याप्त रूढ़ीवादी व्यवस्था के खिलाफ लंबी लड़ाई लड़ी। वे शिक्षिका के साथ समाज सुधारक और मराठी कवि भी थी। राष्ट्रीय ओबीसी मोर्चा ने सर्वसम्मति से सरकार से 5 सूत्री मांग की है। राष्ट्रीय ओबीसी मोर्चा केंद्र और राज्य सरकार से मांग करती है की महाराष्ट्र और राजस्थान सरकार की तरह 3 जनवरी को 1.महिला शिक्षिका दिवस के रूप में मनाने, 2.शिक्षण संस्थानों में उनकी तस्वीर व प्रतिमा स्थापित करने 3. सावित्रीबाई फुले की के नाम से महिलाओं के आर्थिक विकास के लिए महिला आर्थिक विकास मंडल की स्थापना की जाए।4. राजधानी रांची में माता सावित्रीबाई फुले की आदम कद प्रतिमा लगाई जाए।5.माता सावित्रीबाई फुले के नाम से महिला यूनिवर्सिटी की स्थापना की जाए। विशिष्ट अतिथि डॉ दिलीप सोनी कहा सर्वस्व त्याग कर समाज में व्याप्त रूढ़िवादी खिलाफ लंबी लड़ाई लड़ी।150 साल पूर्व माता सावित्रीबाई फुले ने विधवा विवाह ही नहीं अवैध बच्चों के लिए पालन घर की व्यवस्था भी की थी। विशिष्ट अतिथि प्रोफेसर प्रेम सागर केसरी ने कहा इस देश के सभी वर्गों के महिलाओं के लिए कठिन संघर्ष कर क्रांतिकारी बदलाव किया है इसी का परिणाम है आज देश की महिलाएं पुरुष की बराबरी कर रही हैं।

विशिष्ट अतिथि सीनियर चार्टर्ड अकाउंटेंट सुनील कुमार जायसवाल ने कहा माता सावित्रीबाई फुले ने जो क्रांतिकारी बदलाव किया उसी तरह का बदलाव करने के लिए हमें अपनी आत्मबल मजबूत करनी होगी। पाल महासभा के संरक्षक अवधेश पाल ने कहा की इस देश से जाती पाती को हटाकर ही हम माता सावित्रीबाई फूले गए सपना को पूरा कर सकते हैं। कार्यक्रम का संचालन विक्रांत विश्वकर्मा ने किया जबकि धन्यवाद ज्ञापन राम लखन साहू ने किया।

Recent Posts

%d bloggers like this: