April 11, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

गाजियाबाद: चिकित्सा उपकरण बनाने वाली फैक्ट्री में भीषण आग, मालिक सहित 14 लोग झुलसे

जिलाधिकारी मौके पर, तमाम प्रशासनिक अमला राहत कार्य में जुटा

गाजियाबाद:- गुरुवार देर रात साहिबाबाद औद्योगिक क्षेत्र साइट चार में चिकित्सा उपकरण बनाने वाली फैक्ट्री में अचानक आग लग गई। देखते ही देखते आग ने भीषण रूप धारण कर लिया और फैक्टरी में मौजूद लोग निकल भी नहीं सके। झुलसी हालात में 14 लोगों को निजी अस्पतालों में भर्ती कराया है। जिनमें तीन की हालत चिंताजनक बताई जा रही है। फैक्ट्री के मालिक कुनाल बहल भी झुलस गए हैं, उन्हें भी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जिलाधिकारी डॉ. अजय शंकर पांडे, एसएसपी कलानिधि नैथानी मौके पर पहुंचे और राहत कार्य शुरू कराया। जिलाधिकारी ने पीड़ितों को हरसंभव मदद करने का आश्वासन दिया। जिस वक्त आग लगी उस वक्त घटना के समय करीब 20 कर्मचारी फैक्ट्री के अंदर मौजूद थे। सूचना मिलते ही सीएफओ सुनील कुमार सिंह के नेतृत्व में दमकल टीम पहुंची। स्वास्थ्य विभाग, प्रशासन और स्थानीय पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। देर रात दमकल की करीब 15 गाड़ियां फैक्ट्री की दीवारें तोड़कर आग बुझाने की कोशिशों में जुटी हुई थीं। सीएफओ सुनील कुमार ने बताया कि आग भूतल पर लगी थी। आग में फंसे लोगों को निकाला गया। आग लगने की वजह शार्ट सर्किट बताई जा रही है। हादसे में फैक्टरी में मौजूद किशोरी शिवी (16), विश्वनाथ (22), मोहित (18), ट्विंकल (20), कुणाल (40), विवेक (26), अरविंद तिवारी, जावेद, रकीबुल, राशिद अली, सद्दाम, सुशील , शेरबुल झुलस गए हैं। विश्वनाथ, मोहित, टविंकल, कुणाल की हालत गंभीर है। इनको वेंटिलेटर पर रखा गया है। अरविंद तिवारी, जावेद, रकीबुल, राशिद अली, सद्दाम, सुशील , शेरबुल को सफदरजंग रेफर किया गया है। साइट-4 स्थित ईफर सर्जिमेड फैक्ट्री में सर्जिकल ग्लव्स, मास्क, पीपीई किट, फेस शील्ड, बैंडेज व टेप आदि बनती है। गुरुवार को फैक्ट्री में काम चल रहा था और मालिक के साथ करीब 20 कर्मचारी अंदर मौजूद थे। देर रात अचानक फैक्ट्री में आग लग गई। जिसके बाद फैक्ट्री आसपास के इलाकों में हड़कंप मच गया। लोगों ने इसकी सूचना पुलिस व फायर ब्रिगेड को दी। पुलिस व फायर ब्रिगेड के अधिकारी तत्काल मौके पर पहुंचे और आग को बुझाने में लग गए। अग्निशमन अधिकारियों ने भीषण आग को देखते हुए फायर स्टेशन वैशाली के अलावा साहिबाबाद और घंटाघर कोतवाली फायर स्टेशन से भी टीमों को गाड़ियों के साथ बुलाया। आसपास की फैक्टरियों को भी खाली कराया गया। आसपास जगह न होने के चलते आग बुझाने में परेशानी आई। इस कारण दमकल टीम को फैक्ट्री की दीवारें भी तोड़ना पड़ीं।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: