May 11, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पीएम केयर फंड से 574 वेंटिलेटर मिलें, अधिकांश का इंस्टोलेशन सिर्फ कागजी आंकड़ा-बाबूलाल मरांडी

रांची:- झारखंड में कोरोना से गहराते संकट के बीच भाजपा विधायक दल के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने राज्य में इलाज की व्यवस्था पर सवाल उठाया है।
बाबूलाल मरांडी ने मंगलवार को मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में कहा कि पीएम केयर फंड से झारखंड को मिले 574 वेंटिलेटर में से अधिकतर का इंस्ल्टोलेशन भी दिखला दिया गया है, लेकिन वास्तव में यह दिखावे का कागजी आंकड़ा है। उन्होंने कहा कि विपदा की यह घड़ी टीका- टिप्पणी करने के लिए नहीं है, लेकिन सार्वजनिक जीवन में काम करने के चलते जो भी बाते उनके संज्ञान में आ रही है, उसे राज्य हित में आपके संज्ञान में लाना हमारी नैतिक जिम्मेदारी है. थोड़ा समय निकाल कर इस पर गौर करेंगे।
बाबूलाल मरांडी ने कहा कि उनहें बताया गया है कि इनमें से इक्का-दुक्का नामचीन जगहों को छोड़कर अधिकांश जगहों पर या तो वास्तव में वेंटिलेटर इंस्टॉल नहीं हुए अगर हुए भी तकनीकी कारणों से इस्तेमाल में नहीं लाए जा सके. इन जीवन रक्षक उपकरणों को शोभा की वस्तु बनान की बजाए सरकार उपयोगी बनाए। भाजपा नेता ने कहा कि अखबारों में देखने को मिल रहा है कि बड़े पैमाने पर कोविड बेड वाले अस्थायी सेंटर बनाए जा रहे हैं, यह अच्छी बात है बनाए भी जाने चाहिए. लेकिन फिर क्या कारण है कि लोग अस्पतालों में जगह के लिए मारे- मारे फिर रहे हैं और घरों में लाइलाज होकर तड़प- तड़प कर मर रहे हैं।
बाबूलाल की ओर से मुख्यमंत्री को सुझाव देते हुए कहा कि सरकार की प्राथमिकता में आईसीयू बेड बढ़ाने पर होनी चाहिए। वेंटिलेटर के सही इस्तेमाल पर ध्यान रहना चाहिए।ऑक्सीजन रिफिल केंद्र का मुआयना का काम दूसरों पर छोड़िए, वक्त गंवाने के बदले लोगों की जान बचाने में ध्यान दीजिए। बाबूलाल मरांडी ने यह भी कहा कि यत्र-तत्र बेकार पड़े वेंटिलेटर जो वैसे जगहों पर अभी चलवाये ही नहीं जा सकते उन्हें शोभा की वस्तु मत बनाइये। मंगवाईये और जहां कहीं भी उसे उपयोगी बनाया ज़ा सके वहां शुरू कराईये। उन्होंने कहा कि देवदूत की तरह काम कर रहे सरकारी- ग़ैर सरकारी जीवन रक्षक मेडिकलकर्मी योद्धाओं पर कई गुणा दिन-रात काम के तनाव का भारी दबाव है। उन्हें भरोसे में लीजिये, उनकी पीड़ा समझिए, हौसला अफ़जाई करिये। कहिये कि इस संकट की घड़ी में आपके योगदान का राज्य ही नहीं राष्ट्र ऋणी रहेगा।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: