January 25, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

टी-20 में विराट-रोहित के बीच कप्तानी पर भिड़े गंभीर और आकाश

नयी दिल्ली:- भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी गौतम गंभीर ने टी-20 टीम कप्तानी पांच बार के आईपीएल विजेता रोहित शर्मा को सौंपने की वकालत की है जबकि कमेंटेटर और पूर्व खिलाड़ी आकाश चोपड़ा मौजूदा कप्तान विराट कोहली को ही खेल के तीनों प्रारूपों में कप्तान बनाये रखने के हक में हैं। पूर्व भारतीय खिलाड़ियों गौतम गंभीर, आकाश चोपड़ा और पार्थिव पटेल ने स्टार स्पोर्ट्स के कार्यक्रम क्रिकेट कनेक्टेड में रोहित और विराट में से कौन बेहतर कप्तान है को लेकर चर्चा की, जिसमें तीनों खिलाड़ियों ने अपनी-अपनी राय व्यक्ति की। इन दिनों दरअसल यह चर्चा बहुत जोरों पर है कि क्या टी-20 की कप्तानी रोहित को सौंप दी जाए। रोहित की कप्तानी में मुंबई इंडियंस ने आईपीएल में अपना पांचवा खिताब जीता है जबकि विराट की बेंगलुरु टीम प्लेऑफ तक ही पहुंच सकी थी और उनकी कप्तानी में आठ वर्षों में बेंगलुरु एक बार भी खिताब नहीं जीत पायी है। कप्तानी को बांटने को लेकर चल रही बहस के बीच हालांकि भारत के पहले विश्व कप विजेता कप्तान और लीजेंड आलराउंडर कपिल देव ने टीम इंडिया के टेस्ट और सीमित ओवरों की कप्तानी बांटने के विचार को सिरे से खारिज करते हुए कहा था कि भारतीय क्रिकेट संस्कृति दो कप्तानों की नहीं है और विराट अगर टी-20 में अच्छा कर रहे हैं तो उन्हें कप्तान बने रहने देना चाहिए। गंभीर ने विराट और रोहित में से बेहतर टी-20 कप्तान को लेकर कहा, ‘‘विराट ख़राब कप्तान नहीं है लेकिन यहां चर्चा यह है कि कौन बेहतर कप्तान है और मेरे हिसाब से रोहित ज्यादा अच्छे टी-20 कप्तान है और दोनों की कप्तानी में बहुत बड़ा अंतर हैं।” वहीं आकाश चोपड़ा ने कहा, ‘‘यह समय बदलाव का नहीं है। अब आपके पास एक नयी टी-20 टीम तैयार करने का समय नहीं है। अगर आप नए सिरे से टीम प्रक्रिया या कुछ नया शुरू करना चाहते हो तो उसके लिए आपके पास खेलने के लिए कई मुकाबले होने चाहिए लेकिन टी-20 विश्व कप से पहले टीम के पास केवल पांच से छह टी-20 मुकाबले ही हैं।”
गंभीर ने कहा, ‘‘जब हम आईपीएल के आधार पर अंतरष्ट्रीय क्रिकेट में खिलाड़ियों का चयन कर सकते है तो इसी आधार पर भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान का चुनाव क्यों नहीं कर सकते और अगर ऐसा नहीं कर सकते तो बल्लेबाजों और गेंदबाजों को आईपीएल में उनके प्रदर्शन पर नहीं आंका जाना चाहिए तथा खिलाड़ियों को चयन भी नहीं होना चाहिए।”
आकाश ने गंभीर की बातों का जवाब देते हुए कहा, ‘‘हाँ आईपीएल में प्रदर्शन जरुरी है और मैं इससे सहमत हूं लेकिन अंतराष्ट्रीय स्तर पर किसी को आंकने से पहले खिलाड़ी या कप्तान का प्रदर्शन भी अंतराष्ट्रीय स्तर पर देखा जाना चाहिए। कई खिलाड़ियों का आईपीएल में ख़ास प्रदर्शन नहीं रहा लेकिन उन्होंने भारतीय टीम के लिए शानदार प्रदर्शन किया हैं। यह पूरी चर्चा और बहस केवल इस बारे में है कि विराट ने भारतीय टी-20 टीम का कप्तान बने रहने के लिए सब कुछ सही किया है।”
गंभीर हालांकि आकाश से सहमत नहीं दिखे और उन्होंने कहा, ‘‘टी नटराजन, वाशिंगटन सुंदर, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव का चयन गलत है क्योंकि इन सभी खिलाड़ियों का चयन आईपीएल में प्रदर्शन के आधार पर किया गया है। जब आप खिलाड़ियों का चयन में प्रदर्शन के आधार पर कर रहे हैं तो भारतीय टी-20 टीम के कप्तान के चुनाव के लिए यह आधार क्यों नहीं हैं।”
इस बहस में विकेटकीपर बल्लेबाज पार्थिव पटेल ने भी कहा, ‘‘हम यहां इस बारे में बात कर रहे है कि कौन अधिक बेहतर निर्णय ले सकते हैं या कौन खेल को अधिक बेहतर समझ सकता हैं।” पार्थिव ने भी हालांकि रोहित का समर्थन करते हुए कहा कि रोहित दबाव में ज्यादा अधिक सही निर्णय ले सकते हैं और इन सब पहलुओं में वह विराट के मुकाबले थोड़े से बेहतर हैं।

Recent Posts

%d bloggers like this: