January 20, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

अस्थाई शॉपिंग मॉल में की नए गर्म कपड़ों की फ्री शॉपिंग

अनाथ बच्चों ने रेड क्रॉस के सौजन्य से मनाया नया साल

चतरा:- वैसे तो नए साल की खुशियां हर्ष और उमंग के साथ पूरे देश मे मनाई जाती हैद्य लेकिन चतरा जिला में इस मौके पर आज इसका कुछ अलग ही रंग दिखा। गरीब, असहाय व अनाथ बच्चों की नववर्ष की खुशियां यहां पहली बार मनी, जिसमें बच्चों ने फ्री में शॉपिंग का मजा लिया और वो भी शौपिंग माल में। इस मौके पर जहाँ बच्चों के बिच एक गजब का उत्साह देखा गया, वहीँ यह पल व नववर्ष का आगमन मानो उनकी खुशिओं में चार चाँद लगा गया हो।

दरअसल रेड क्रास सोसायटी ने यह अनोखा कदम उठाया है। जिसमें जिले के सुदूरवर्ती ईलाकों में निवास करने वाले अनाथ और गरीब बच्चों के लिये एक कमरे को अस्थाई शौपिंग माल का रूप दिया गया था। फ्री शौपिंग माल में सेल्स मैन और सेल्स गर्ल्स भी मुस्तैद थी। शायद इस वख्त इन गरीब बच्चों को भी अपनी गरीबी का अहसास न हो रहा हो। रेडक्रॉस सोसाइटी के सदस्यों ने तकरीबन 100 अनाथ, गरीब व असहाय बच्चों को आमंत्रित कर उन्हें खुशियां देने को लेकर यह सकारात्मक कदम उठाया था। इस मौके पर बच्चों ने नववर्ष की खुशियां मनाते हुए एक दूसरे को बधाई दी। इस कार्यक्रम में जिला मुख्यालय के विभिन्न ईलाकों के एक सौ अनाथ बच्चों को आमंत्रित किया गया था। सभी ने अपने मन पसंद के गर्म कपड़े लिए।
फ्री शौपिंग करने आयी खुशबू व संदीप ने बताया कि यहां आकर काफी खुशी मिली। इतना ही नहीं, मनपसंद के कपङे लेने के बाद इन्हे मिठाईंया भी मिली। दूसरी ओर आयोजक रेड क्रास के सचिव राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि यह हम विगत दो वर्षों से इस तरह का आयोजन कर रहे है। इसकी तैयारियां कई महीने पूर्व से ही की जा रही थी। गरीब व अनाथ बच्चों को खुशियां देने के लिये मदद करने के लिये यह कदम उठाया गया ताकि इन बच्चों में आत्मसम्मान की भावना बनी रहे। इधर जिला खेल पदाधिकारी प्राण महतो ने इस मौके पर रेड क्रॉस सोसाइटी के इस कदम को का सराहनीय बताते हुए अनाथ बच्चों के हित में उठाए गए इस कदम की प्रशंसा की।
मॉल के माध्यम से बच्चों को न सिर्फ स्वेटर, जैकेट, टोपी व दास्तान समेत अन्य कपड़े दिये गए। बल्कि रेडक्रॉस सचिव ने मेडिकेटेड साबुन व सर्फ के साथ उन्हें मिठाइयां भी दी। जिससे बच्चे न सिर्फ खुश दिखे बल्कि उनमे गजब का उत्साह भी देखने को मिल रहा था। सबसे मजे की बात तो यह थी कि इस पूरे कार्यक्रम के दौरान जिला खेल पदाधिकारी व रेडक्रॉस सचिव खुद बच्चों की खुशी का ख्याल रख रहे थे।

Recent Posts

%d bloggers like this: