अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

ग्राम प्रधान की हत्या के विरोध में धरने पर बैठीं पूर्व सांसद सावित्री बाई फुले


बहराइच:- उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले के जरवल रोड क्षेत्र में एक दलित ग्राम प्रधान की हत्या के मामले में बहराइच की पूर्व सांसद सावित्री बाई फुले ने बुधवार को कलेक्ट्रेट में धरना दिया। ‘कांशीराम बहुजन मूल निवासी पार्टी’ की राष्ट्रीय अध्यक्ष और बहराइच से भाजपा की सांसद रह चुकी सावित्री बाई फुले कलेक्ट्रेट पहुंची और जरवल रोड थाना क्षेत्र के करनईडीहा गांव के दलित ग्राम प्रधान द्वारिका प्रसाद राव की 17 जून को हुई हत्या के मामले में आरोपियों के खिलाफ कथित रूप से पुलिस कार्रवाई नहीं किए जाने के विरोध में धरना दे रहे परिजन के प्रदर्शन में शरीक हुईं। आरोपियों की गिरफ्तारी ना होने के विरोध में मृत प्रधान का बेटा राम मनोरथ और उनके परिवार की महिलाएं और पुरूष इन दिनों कलेक्ट्रेट में धरना दे रहे हैं। परिजनों का आरोप है कि चुनाव की रंजिश को लेकर ग्राम प्रधान की हत्या की गई है और वारदात के डेढ़ महीने बाद भी नामजद अभियुक्त खुले घूम रहे हैं और पीड़ित परिवार को धमकी दे रहे हैं। पीड़ित पक्ष की मांग है कि आरोपियों के खिलाफ अनुसूचित जाति एवं अनुसचित जनजाति अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी हो। इसी मामले को लेकर बसपा प्रमुख मायावती ने मंगलवार को ट्वीट किया था। इसमें उन्होंने कहा था “दलित प्रधान की हत्या में नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर पीड़ित परिवार जिला कलेक्ट्रेट के सामने धरने पर बैठ रहा है, लेकिन प्रदेश सरकार खामोश है, यह अति दुखद है।” बुधवार को यह मामला और चर्चा में आ गया जब कांशीराम बहुजन मूल निवासी पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व सांसद सावित्रीबाई फुले पुलिस द्वारा कार्यवाही न करने के विरोध स्वरूप मृतक परिजनों द्वारा दिए जा रहे धरने में शामिल हुयीं । पुलिस अधीक्षक सुजाता सिंह ने इस बारे में कहा कि मरने वाले के परिवार का पक्ष मामले की विवेचना में सहयोग नहीं कर रहा है।
उधर, जिला पुलिस ने अपने आधिकारिक हैंडल से ट्वीट कर दावा किया “घटना के संबंध में प्रतिनिधिमंडल से मुलाक़ात की गई। जिसमे मरने वाले के पुत्र राममनोरथ, बसपा जिलाध्यक्ष अजय कुमार गौतम, पूर्व बसपा जिलाध्यक्ष विजय कुमार गौतम, बसपा नेता अशर्फी लाल सम्मिलित रहे। सभी से वार्ता की गई एवं उनको निष्पक्ष विवेचना का आश्वासन दिया गया। प्रतिनिधि मंडल द्वारा वार्ता से सन्तुष्ट होकर धरना समाप्त किये जाने का वादा किया गया।” हालांकि पीड़ित पक्ष के संतुष्ट होने व धरना समाप्ति के वादे के पुलिस के दावे के बावजूद खबर लिखे जाने तक पीड़ित परिवार का धरना जारी है और पूर्व सांसद सावित्रीबाई फुले उनके समर्थन में धरने में शामिल हैं।

%d bloggers like this: