अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

निजीकरण को बढ़ावा देने के लिए जबरन बिल पास कराया – झरना दास


रांची:- त्रिपुरा की राज्यसभा सांसद झरना दास ने कहा कि देश की आजादी के बाद से संसद की ऐसी स्थिति कभी नहीं देखी गयी। विपक्षी दलों की बात सुनने के बजाय सत्ता पक्ष उन पर बल प्रयोग कर रहा है। इंश्योरेंस बिल पास करने के लिए संसद मे 62 मार्शलों को लगाया गया। जबकि विपक्षी दलों का दबाव था कि बिल चर्चा के बाद पास हो। चेयरमैन ने इस पर हामी भी भरी लेकिन केद्रीय मंत्री पीयूष गोयल के हस्तक्षेप से बिल पास कराया गया। आज सीपीआइ(एम) कार्यालय मे प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए त्रिपुरा की राज्यसभा सांसद झरना दास ने कहा कि ओबीसी आरक्षण मामले में भी सत्ता पक्ष का यही रवैया रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ सालों में संसद की कार्रवाई बदल गयी है। भारतीय इतिहास में पहली बार ऐसी घटना हुई है। झरना ने कहा कि सरकार निजीकरण की नीति पर चल रही है। पिछले दो साल में जबरन ऐसे अनेक बिल लाये गये। जो, निजीकरण का समर्थन करते हैं। अपने सांसद होने का बारह वर्षों का अनुभव साझा करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस और बीजेपी दोनों सरकारों का कार्यकाल देखा है। सभी सरकारें विपक्ष की बाते सुनती रही हैं, लेकिन वर्तमान सरकार जबरन बिल पास करने में लगी हुई है।

%d bloggers like this: