अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

फर्जी सर्टिफिकेट बनाकर नौकरी करने मामले में आठ पर प्राथमिकी

रांची:- रांची यूनिवर्सिटी के दस्तावेजों में छेड़छाड़ कर फर्जी सर्टिफिकेट बनाकर उसके आधार पर नौकरी करने के एक मामले में 8 जुलाई को कोतवाली थाना में चार लोगों पर प्राथमिकी दर्ज कराई गई। प्राथमिकी मुत्तवाली कमेटी एमएल जुबली इंस्टीट्यूशन कोलकाता के पूर्व असिस्टेंट सेक्रेटरी डॉ. जहांगीर मोला द्वारा कराए गए कोर्ट कंपलेन के आधार पर आठ जुलाई को दर्ज की गई। प्राथमिकी में चार लोगों को आरोपी बनाया गया है। इसमें मुख्य आरोपी एमएल जुबली इंटीट्यूशन कोलकाता का कर्मी मो. फहीमुल्लाह है, जो पश्चिम बंगाल का रहनेवाला है। रांची यूनिवर्सिटी से फर्जी सर्टिफिकेट बनाकर इंटीट्यूशन में काम कर रहा था। फजीर्वाड़े का मुख्य आरोपी मो. फहीमुल्लाह तीन अन्य आरोपियों में तत्कालीन रांची यूनिवर्सिटी का कर्मी देवघरिया (अभी स्ट्रांग रूम मेंकार्यरत), कंट्रोलर ऑफ एग्जामिनेशन और रांची यूनिवर्सिटी के पूर्व कर्मी मुल्तान मियां शामिल है। इनके विरुद्ध आईपीसी की धारा 420, 467, 468 और 471 के तहत प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। आरोप है कि मुख्य आरोपी मो. फहीमुल्लाह ने दस्तावेजों में छेड़छाड़ कर फर्जी सर्टिफिकेट बनवाया और उसी के आधार पर मुत्तवाली कमेटी एमएल जुबिली इंस्टीट्यूशन कोलकाता में नियुक्त हुए थे।
दर्ज प्राथमिकी के अनुसार, जब इस मामले में रांची यूनिवर्सिटी में ऑफिशियल रिकॉर्ड व सर्टिफिकेट की जांच कराई गई, तब पता चला कि फजीर्वाड़ा कर ऑफिशियल रिकॉर्ड में छेड़छाड़ किया गया है। इस मामले में चार लोगों को गवाह बनाया गया है। मामले के अनुसंधान के लिए जांच अधिकारी दारोगा रमेश कुमार झा को बनाया गया है।

%d bloggers like this: