अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बागवानी से किसान होंगे सशक्तः आयुक्त

आयुक्त पहुंचे गढ़वा जिले के धुरकी प्रखंड के सीमांत गांव कदवा, गड्डे की खुदाई कर आम बागवानी की शुरुआत की

मेदिनीनगर:- बागवानी से किसान सशक्त होंगे। उन्हें आर्थिक मजबूती मिलेगी। इससे दूसरों पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा। ग्रामीण किसान आत्मनिर्भर होंगे। यह बातें प्रमंडलीय आयुक्त श्री जटाशंकर चौधरी ने कही। वे आज गढ़वा जिले के धुरकी प्रखंड के भंडार पंचायत के सीमांत गांव कदवा उर्फ लिखनीधौरा गांव पहुंचे थे। यहां उन्होंने पानी रोको-पौधा रोपो के तहत वीभा देवी के खेत में आम बागवानी के लिए गड्ढ़ा खोदने के कार्य की शुरुआत कर रहे थे। आयुक्त के साथ गढ़वा उपायुक्त श्री राजेश पाठक, उप विकास आयुक्त सत्येंद्र नारायण उपाध्याय भी थे।
आयुक्त ने किसानों का हौसला बढ़ाया और बागवानी व खेती के लिए प्रेरित-प्रोत्साहित किया। उन्होंने किसान को रसदार फल नींबू, संतरा, मौसमी आदि की खेती के लिए भी प्रेरित किया। साथ ही उपायुक्त व उप विकास आयुक्त को रसदार फलों वाली पौधे किसानों को मुहैया कराने का निदेश दिया। आम की बागवानी कर रही महिला किसान वीभा देवी को पौधा लगाते समय अच्छी मिट्टी देने, जैविक-गोबर खाद देने, पौधे की सुरक्षा के लिए अच्छे घेरान लगाने या घेरावा करने तथा सिंचाई का समुचित प्रबंध करते हुए पौधे को सुरक्षित बचाने की बातें कही। उन्होंने किसानों को प्रेरित करते हुए रूचि लेकर कार्य करने की अपील की। साथ ही कोविड-19 से बचाव के लिए सभी से वैक्सीन लेने की अपील की।
आयुक्त राजेश कुमार पाठक ने कहा कि बागवानी से किसान आत्मनिर्भर होंगे। सरकार के स्तर पर बागवानी को बढ़वा दिया जा रहा है, ताकि स्थानीय स्तर पर ही किसानों को रोजगार मिल सके और उन्हें बाहर नहीं जाना पड़े।
मौके पर आयुक्त राजेश कुमार पाठक, उप विकास आयुक्त सत्येंद्र नारायण उपाध्याय, नगर उंटारी अनुमंडल पदाधिकारी जय बर्धन कुमार, धुरकी प्रखंड विकास पदाधिकारी रंजीत कुमार सिन्हा, बीपीओ श्रीराम, कनीय अभियंता राकेश रंजन, एई उज्जवल कुमार, जेएसएलपीएस के बीपीएम अंजनी कुमार, मुखिया पचिया देवी, पंचायत सेवक नारेन्द्र प्रसाद, रोजगार सेवक शशी कुमार, मेठ रेखा देवी आदि उपस्थित थे।
आय , उपायुक्त , उप विकास आयुक्त व अन्य पदाधिकारियों ने धुरकी के सुखलदरी फॉल की प्राकृतिक छटा को भी निहारा। सभी ने फॉल के नीचले तल पानी के करीब पहुंचकर अवलोकन किया। आयुक्त ने कहा कि सुखलदरी का मनोरम दृश्य है। यहां पर्यटकों को आना चाहिए। उन्होंने यहां के पेड़-पौधे, कलकल करती कनहर नदी की पानी, कटाव युक्त पत्थर और चट्टानों से टकराती व इधर-उधर घुमती पानी की सुमधुर आवाज लोगों को आकर्षित करती है। इस पर्यटन के रूप में और विकसित किया जायेगा, ताकि यहां लोग आएंगे, जिससे स्थानीय व्यक्तियों की आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। उन्होंने सरकारी स्तर पर सुविधा बढ़वाने की बातें कही, जबकि स्थानीय लोगों से व्यवहार में परिवर्तन लाते हुए पर्यटकों के प्रति आदर सम्मान की भावना रखने की अपील की। आयुक्त ने सीढ़ी के दोनों बगल छायादार पौधा लगवाने का निदेश दिया, ताकि पर्यटकों को सीढ़ी से नीचे जाने में छाया मिल सके।
गढ़वा उपायुक्त राजेश कुमार पाठक ने कहा कि सुखलदरी मनोरम जगह है। जहां लोगों को बार-बार आने का जी करता है। पर्यटन के रूप में इसे और विकसित करने का प्रयास हो रहा है। उन्होंने जनसहयोग की अपेक्षा जताते हुए कहा कि स्थानीय लोग पर्यटकों के प्रति समुचित व्यवहार रखें, ताकि लोग यहां से अच्छी यादें लेकर जाएं।
इसके पूर्व गढ़वा पहुंचने के बाद आयुक्त ने सर्किट हाउस में गढ़वा उपायुक्त व उप विकास आयुक्त से बैठक कर गढ़वा जिले में पर्यटन की संभावना वाले सुखलदरी, बाबा खोनहर नाथ स्थान आदि जगहों को विकसित करने का निदेश दिया। साथ ही किसानों से रसदार फलों की खेती करवाने के लिए प्रेरित करने एवं पौधा की उपलब्धता के लिए कार्य करने का निदेश दिया। वहीं बोरा बांध बनाकर पानी रोकने एवं उस पानी से सिंचाई कराने के लिए प्रोत्साहित करने का निदेश दिया।
आयुक्त, उपायुक्त, उपविकास आयुक्त आदि पदाधिकारी वंशीधर नगर अनुमंडल कार्यालय भी पहुंचे और अधिकारियों के साथ बैठक कर आवश्यक दिशानिर्देश दिया। साथ ही श्रीवंशीधर नगर अनुमंडल कार्यालय परिसर में आयुक्त, उपायुक्त, उपविकास आयुक्त, अनुमंडल पदाधिकारी ने पौधरोपण भी किया। आयुक्त ने अनुमंडल कार्यालय के सभी कर्मियों से परिसर में पौधरोपण कराने और उसपर सभी का नेम प्लेट लगवाने तथा पौधे की सुरक्षा का पूरा जिम्मा देने का निदेश दिया।

%d bloggers like this: