January 16, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

प्रत्येक प्रखण्ड में बनेगा फार्मर प्रोड्यूसर आर्गेनाईजेशन : उपायुक्त

भौगोलिक क्षेत्र के अनुकूल कृषि और संबद्ध उत्पादन की सूची करें तैयार

मेदिनीनगर:- पलामू के उपायुक्त शशि रंजन के अध्यक्षता में जिला स्तरीय मॉनिटरिंग समिति की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में कृषि एवम किसान कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार के द्वारा जारी की गई विशेष केंद्रीय योजना “फॉरमेशन एंड प्रमोशन ऑफ फार्मर प्रोड्यूसर ऑर्गेनाइजेशंस“ तथा एग्रीकल्चर इंफ्रास्ट्रक्चर फण्ड को पलामू जिले में आरंभ करने हेतु समीक्षा की गई।
विदित हो कि उपरोक्त योजना के क्रियान्वयन तथा अनुश्रवण हेतु उपायुक्त की अध्यक्षता में बनाये गए जिला स्तरीय मॉनिटरिंग समिति में मुख्य रूप से डीडीसी-सह-मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी जिला परिषद पलामू, जिला कृषि पदाधिकारी पलामू, जिला उद्यान पदाधिकारी पलामू, जिला पशुपालन पदाधिकारी पलामू, जिला मत्स्य पदाधिकारी पलामू, जिला सहकारिता पदाधिकारी पलामू, सचिव, कृषि उत्पादन बाजार समिति पलामू, प्रबंधक जिला अग्रणी बैंक पलामू, नाबार्ड डीडीएम पलामू, प्रधान वैज्ञानिक के वी के, चियांकी तथा परियोजना निदेशक, आत्मा, पलामू शामिल हैं।
केंद्र सरकार की इस योजना का मुख्य उद्देश्य नाबार्ड व जिला स्तरीय समिति की निगरानी में का गठन करना है, जिससे जिले के किसानों को इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट व अपना व्यवसाय बढ़ाने में मदद मिल सके। बैठक में नाबार्ड के डीडीएम शालीन लकड़ा ने बताया कि पलामू जिला एक आकांक्षी जिला है तथा (अरहर की खेती के लिए उपयुक्त) कृषि प्रधान क्षेत्र है तथा यहां ज्यादातर किसान वैसे है जो छोटे स्तर पर खेती करते हैं। ऐसे में किसानों को थ्च्व्े से जोड़ते हुए समूह में खेती करने, उत्पादन करने और समूह में उसे बेचने के विषय में जागरूक करना हमारा मुख्य उद्देश्य है। सरकार के निर्देश पर उपायुक्त ने पलामू जिले के सभी प्रखण्ड में क्षेत्रों के अनुकूल प्रोडक्ट को चिन्हित कर फार्मर प्रोड्यूसर आर्गेनाईजेशन बनाने का निर्देश दिया। उपायुक्त ने सभी विभागों को कृषि तथा सम्बद्ध उत्पाद तथा क्षेत्रों को जल्द से जल्द चिन्हित करने का निर्देश दिया।

Recent Posts

%d bloggers like this: