June 24, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

21 वीं सदी में भी सांप काटने पर होता है झाड़ फूंक, इसे विश्वास कहेंगे कि अंधविश्वास!

सांप काटने से 45 वर्षीय व्यक्ति अचेत, 4 घंटे तक चली वैध की उपचार

चतरा:- 21 वीं सदी में भी 16 वीं सदी के टोटके बंद नहीं हुए हैं। अंधविश्वास में जकड़ी पुरानी पीढ़ी अब भी अंधविश्वास में है। यकीन नहीं हो तो चतरा जिले का अति नक्सल प्रभावित कुन्दा थाना क्षेत्र के गांव बानासाम में अगर आप बखूबी देख लीजिए।
बताते हैं कि इसी गांव के मदन सिंह पिता जगदेव सिंह ने अपने घर में नीचे जमीन पर रात में सोया हुआ था। तभी एक जहरीला सांप ने मदन सिंह के हाथ में डंस लिया। कहते हैं कि सांप के काटने के बाद मदन सिंह ने पूरे वाकये की जानकारी उसने अपने पत्नी को बताया।
इधर जानकारी व जागरूकता के अभाव में यह लोग गांव के ही एक ओझा गुनी के पास चले गए। जब सांप का विष ज्यादा चढ़ने लगा तो इन लोगों द्वारा गुमला जिला के एक वैध को फोन करके भी बुलाया गया। तब तक वह अचेत अवस्था मे पड़ा हुआ था।वर्तमान स्थिति को देखते हुए ऐसी आशंका जतायी जा रही थी कि व्यक्ति मृत्यु हो चुकी थी। वहीं दूसरी ओर गुमला से बुलाए गए लोग घटनास्थल पर पहुंच गए जिनमें कुल चार व्यक्ति मौजूद थे। उन्होंने मृतक के परिवार वालों को आश्वासन दिया कि हम इन्हें जिंदा कर देंगे और सभी ने झाड़-फूंक करना चालू कर दिया। इसकी सूचना पूरे गांव में आग की तरफ फैल गई तथा इस मंजर को देखने के लिए आसपास के लोग काफी संख्या में स्थल पर पहुंचे गए थे।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: