अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

‘कुशेश्वरस्थान के लोगों को राहत देने के लिए कोसी, कमला और करेह पर तटबंधों का होगा निर्माण’


पटनाः- कोसी, कमला और करेह नदी की कहर के कारण साल में 6 महीने बाढ़ के पानी से प्रभावित रहने वाले बिहार के दरभंगा जिले के कुशेश्वरस्थान के लोगों को इससे राहत दिलाने के लिए नीतीश सरकार जल्द वहां तटबंधों का निर्माण करवाएगी।
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हवाईअड्डे पर पत्रकारों से बातचीत में कहा कि उन्होंने दरभंगा और मधुबनी जिले के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया है लेकिन कुशेश्वरस्थान में जाकर स्थिति का जायजा लिया। कुशेश्वरस्थान के दोनों प्रखण्डों कुशेश्वरस्थान पूर्वी और कुशेश्वरस्थान पश्चमी यह वह स्थान हैं, जो साल के छह महीने बाढ़ के पानी से प्रभावित रहते हैं। उन्होंने कहा कि जिन 3 नदियों के कारण वहां के लोगों को हर वर्ष यह विभीषिका झेलनी पड़ती है उसपर तटबंधों के निर्माण की योजना बनाई गई है। इससे लोगों को थोड़ी राहत मिलेगी।
वहीं नीतीश कुमार ने कहा कि तटबंधों के निर्माण को लेकर सारी बातें हो गई है। जल संसाधन विभाग जल्द ही यह काम शुरू करेगा। उन्होंने कहा कि वह पहले भी इस इलाके का हवाई सर्वेक्षण करते रहे हैं और कई कार्यक्रमों के दौरान भी उन्हें वहां जाने का मौका मिला है लेकिन आज वह जानबूझकर इस इलाके को देखने गए थे ताकि जो कुछ भी हो सकता है वह स्पॉट पर जाकर समझें। जल संसाधन विभाग इस काम में लगा हुआ है और उन्हें उम्मीद है कि वे इस काम को जल्द ही कर देंगे।
बता दें कि कुशेश्वरस्थान का यह इलाका दरभंगा शहर से करीब 70 किलोमीटर दूर है। इसी स्थान पर भगवान भोलेनाथ का प्रसिद्ध मंदिर है, जहां बड़ी संख्या में लोग दर्शन के लिए आते हैं, लेकिन तीन नदियों से घिरे इस इलाके के लोगों की स्थिति बाढ़ के कारण बद से बदतर हो जाती है। दो महीना बाढ़ और उसके बाद करीब चार महीने तक बाढ़ का पानी जमा रहने के कारण इस इलाके के लोगों के लिए नाव ही एक मात्र सहारा है। नावों के जरिए लोगों की रोजमर्रा की जरूरतें ही नहीं पूरी होती हैं बल्कि पुलिस भी पेट्रोलिंग के लिए इसी पर निर्भर रहती हैं।

%d bloggers like this: