अमरोहा:- उत्तर प्रदेश में अमरोहा के सांथलपुर गोशाला मे 61 गोवंश की मौत के मामले में पुलिस ने ग्राम सचिव समेत आठ लोगों को गिरफ्तार किया है जबकि मुख्य आरोपी पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया है।
पुलिस प्रवक्ता ने शनिवार को बताया कि जिले के ग्राम सांथलपुर में वृहद गौ सरक्षंण केन्द्र के नाम से गौशाला स्थित हैं जिसके अध्यक्ष ग्राम प्रधान सांथलपुर रामौतार सिँह हैं। इस गौशाला में 188 रजिस्टर्ड गौवंशीय पशु मौजूद थे। गौशाला में चारा लाने का ठेका अभी 4-5 दिन पूर्व ही ताहिर नाम के व्यक्ति ने लिया था जिसको ग्राम प्रधान रामौतार द्वारा दिया गया था। तीन अगस्त को अपने तयशुदा ठेके के मुताबिक ताहिर द्वारा समस्त गौवंशीय पशुओं के लिए हरे चारे के रुप में बाजरा सप्लाई किया था। चार अगस्त में ताहिर द्वारा लाये गये हरे चारे के रुप में बाजरे को इमरान निवासी ग्राम खैलिया पट्टी ने काटा था जिसको खाने से 61 गौवंशीय पशुओं की मृत्यु हो गई थी।
उन्होने बताया कि इस घटना के सम्बन्ध में खण्ड विकास अधिकारी रेणु कुमार की तहरीर पर ताहिर,ग्राम सचिव अनस,महेश ,नौसिंह , शीशपाल ,सहदेव ,अमरजीत , नेमपाल और इमरान को गिरफ्तार किया गया है जबकि मुख्य आरोपी ताहिर निवासी ग्राम नवादा की शीघ्र गिरफ्तारी के लिये पुलिस अधीक्षक अमरोहा ने 25 हजार रुपयें का पुरस्कार घोषित किया है।
गौरतलब है कि हसनपुर विधानसभा क्षेत्र के सांथलपुर ग्राम पंचायत प्रधान की देखरेख में संचालित पल्लिदेवी मंदिर के समीप स्थित एक करोड़ तीस लाख रुपए की लागत से निर्मित सांथलपुर गोशाला मे 188 गोवंशों मे से चार अगस्त की सुबह अचानक एक के बाद एक 61 गायों की मौत हो गई थी।
सेवादार ने तत्काल ग्राम प्रधान को गायों की मौत की सूचना दी थी। गोशाला मे प्रति गाय के हिसाब से हर रोज तीस से चालीस क्विंटल चारे की खपत का अनुमान है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: