January 22, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कोरोना की वजह से मंदार महोत्सव पर लगा ग्रहण, इस बार बौंसी मेला का नहीं होगा आयोजन

बांका:- जिले में पहली बार बौंसी मेला यानि मंदार महोत्सव का आयोजन नहीं किया जाएगा। कोविड-19 के बढ़ते प्रभाव के कारण जिला प्रशासन ने निर्णय लिया है। डीएम सुहर्ष भगत और एसपी अरविंद कुमार गुप्ता ने बौंसी स्थित वन विभाग के आईबी में अधिकारियों के साथ बैठक कर निर्णय लिया। प्रत्येक वर्ष 14 से 16 जनवरी तक तीन दिवसीय मंदार महोत्सव का भव्य आयोजन किया जाता था। डीएम सुहर्ष भगत ने बताया कि सफा धर्मावलंबियों का आस्था का बड़ा केंद्र है। इसी के मद्देनजर अधिकारियों को पवित्र पापणी सरोवर में स्नान करने आने वाले श्रद्धालुओं के सुविधा के लिए मुकम्मल तैयारी करने का निर्देश दिया गया है।

पापहरणी सरोवर तट पर सभी बुनियादी सुविधाएं जैसे पेयजल, शौचालय, चेंजिंग रूम, रोशनी आदि बहाल रखे जायेंगे। डीएम सुहर्ष भगत ने बताया कि कोविड-19 को लेकर इस बार पापहारिणी मेला का टेंडर भी नहीं होगा। लेकिन प्रशासनिक स्तर पर बुनियादी सुविधाओं को बहाल रखा जाएगा। पापहारिणी सरोवर के चारों तरफ बैरिकेटिंग नाव और गोताखोरों की व्यवस्था आपदा प्रबंधन को करने का निर्देश दिया गया। वहीं, सरोवर से कूड़ा कचरा को भी साफ कराने को कहा गया। अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद डीएम और एसपी ने पापहारिणी सरोवर का निरीक्षण भी किया। एसपी अरविंद कुमार गुप्ता ने मंदार तट पर सुरक्षा व्यवस्था के दृष्टिकोण से उपस्थित पुलिस पदाधिकारियों को कई दिशा निर्देश भी दिया। साथ ही इस वर्ष बौंसी में निकलने वाले भगवान मधुसूदन की शोभायात्रा पर भी रोक लगाने का निर्णय लिया गया। मकर संक्रांति के मौके पर प्रत्येक वर्ष भगवान मधुसूदन की शोभायात्रा बैंड बाजे के साथ निकलती थी। जो मंदिर से पापहारिणी सरोवर तक पहुंचती थी।

Recent Posts

%d bloggers like this: