April 12, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

बिहार में महाशिवरात्रि पर हर-हर महादेव की गूंज

पटना:- भगवान शंकर की अराधना का पर्व महाशिवरात्रि बिहार में धूमधाम के साथ मनाया जा रहा है। महाशिवरात्रि को भगवान शिव की पूजा करने का सबसे बड़ा दिन माना जाता है। महाशिवरात्रि हिन्दू परंपरा का एक बहुत बड़ा पर्व है। सालभर भक्त इस त्योहार की प्रतीक्षा करते हैं। कहा जाता है कि इस दिन भगवान शिव का मां पार्वती के साथ विवाह हुआ था। माना जाता है कि शिवरात्रि के दिन भगवान शिव और देवी पार्वती की पूजा करने से कष्टों से भी मुक्ति मिलती है। श्रद्धालु सुबह से ही भगवान शिव के मंदिरों में उमड़ रहे हैं। माना जाता है कि आज शिवलिंग पर जल, दूध, बेलपत्र, बेर आदि चढ़ाने से भगवान शिव की कृपा मिलती है तथा मनोकामनाएं पूरी होती हैं। बिहार के सभी मंदिर ‘हर-हर महादेव’ उद्घोष से गुंजायमान हैं। महाशिवरात्रि को लेकर मंदिरों में पूजन, जलाभिषेक, रूद्राभिषेक के लिए खास इंतजाम किए गए हैं। राजधानी पटना में देर रात से ही ग्रामीण क्षेत्रों से बड़ी संख्या में लोगों के आने का सिलसिला शुरू हो गया, जो अभी तक जारी है। सुबह होते ही श्रद्धालुओं ने नदियों और तालाब में स्नान करने के बाद मंदिरों के बाहर लंबी कतार लगाकर बाबा भोलेनाथ के दर्शन कर रहे हैं।शिवालयों में शिव भक्तों की कतार लगी है। पटना में छोटे-बड़े सभी शिवालयों को फूलों से सजाया गया है और आकर्षक ढंग से रोशनी की व्यवस्था की गई है।पटना में खाजपुरा शिव मंदिर में इसके लिए खास इंतजाम किए गए हैं। ऐसा माना जाता है कि इस दिन यदि मनोयोग से भगवान शिव की आराधना की जाए तो भक्तों की मनोकामना अवश्य पूर्ण होती है। शिव इतने भोले हैं कि यदि कोई अनायास भी शिवलिंग की पूजा कर दे तो भी उसे कृपा प्राप्‍त हो जाती है। यही कारण है कि भगवान शिव शंकर को भोलेनाथ भी कहा गया है।राजधानी पटना में छोटे-बड़े सभी शिव मंदिरों को फूलों से सजाया गया है। शिवालयों में अखंड कीर्तन, जलाभिषेक और रूद्राभिषेक का अनुष्ठान भी हो रहा है। बिहार में भगवान शिव के ऐसे कई ऐतिहासिक मंदिर हैं जहां उनके दर्शन के लिए भक्तों का तांता लगा रहता हैं। माना जाता है कि शिवरात्रि के दिन भगवान शिव और देवी पार्वती की पूजा करने से कष्टों से भी मुक्ति मिलती है। हर ओर बम बम भोले के जयकारे लग रहे हैं। किशनगंज में हरगौरी मंदिर, बांका के कुशेश्वरनाथ महादेव मंदिर,सीवान के सोहगरा धाम, मुजफ्फरपुर के बाबा गरीबनाथ मंदिर, गया के प्रपिता महेश्वर मंदिर, सोनपुर के बाबा हरिहर नाथ मंदिर, दरभंगा के कुशेश्वरस्थान, समस्तीपुर के थानेश्वर मंदिर, मधेपुरा में सिंहेश्वर स्थान, राजधानी पटना के खाजपुरा शिवमंदिर समेत बिहार के विभिन्न मंदिरों में श्रद्धालु भक्ति भाव से पूजा अर्चना कर रहे हैं। शिवालयों में भक्ति गीतों पर लोग जमकर झूम रहे हैं। राज्य के कई स्थानों पर आज के दिन भोलेनाथ की बारात और झांकी निकालने की भी परंपरा है। इस अवसर पर लोग तरह-तरह का वेशभूषा धारण करते हैं। इस पर्व में भगवान शिव पक्ष के बाराती में शामिल श्रद्धालु सामान्य भोजन का सेवन करते हैं जबकि मां पार्वती पक्ष के लोग निराहार रहते हैं। भक्तों की भीड़ के मद्देनजर सभी मंदिरों में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। पुलिस के बड़े अधिकारी खुद सुरक्षा व्यवस्था की निगरानी कर रहे हैं।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: