June 13, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कोरोना काल में बच्चे खुद चला रहे पाठशाला

दुमका:- कोरोना के कारण देशभर के सभी स्कूल-कालेज बंद हैं और बच्चों की पढ़ाई को लेकर माता-पिता चिंता में हैं। इसके विपरीत दुमका जिले में एक ऐसा भी स्कूल है, जिसके बच्चे खुद से जुट रहे‌ हैं और पाठशाला चला रहे हैं।
जरमुंडी प्रखंड के डुमरथर उत्क्रमित मध्य विद्यालय ने कोरोना संक्रमण की पहली लहर में इस स्कूल के शिक्षकों ने ऑन लाइन क्लास का विकल्प ढूढा था और पूरे गांव की दीवारों को ब्लैक बोर्ड बना कर मोहल्ला क्लास शुरू किया था। दीवारों पर हिंदी-अंग्रेजी की वर्णमाला लिखवा दी थी और चित्र उकेर दिये थे। इस इनोवेटिव आइडिया का प्रधानमंत्री ने भी मन की बात कार्यक्रम में प्रशंसा की थी।’अब, जबकि कोरोना‌ संक्रमण की ‌दूसरी लहर में‌ स्कूल यानी मोहल्ला क्लास बंद है, तब यहां के बच्चे खुद से अपने ब्लैक बोर्ड के सामने बैठ कर ठीक वैसे ही पढ़ रहे हैं, जैसे स्कूल बंद होने के पहले मोहल्ला क्लास में पढ़ा करते थे।
अंतर बस इतना है कि अभी इनकी पाठशाला का कोई वक्त तय नहीं है। गांव की गलियों में खेलते हुए ये बच्चे जब मन‌ होता है, अपनी मर्जी से अपने ब्लैक बोर्ड के पास किताब-चॉक लेकर पढ़ने बैठ जाते हैं। जो बड़े बच्चे हैं, उनमें से कोई शिक्षक बन जाता है और बाकी बच्चे दीवारों पर लिखी गयी हिंदी एवं अंग्रजी की वर्णमाला और चित्रों को देख कर अभ्यास कर रहे हैं।
’खेल-खेल में शिक्षा’ और ’आनंददायी शिक्षा’ की जिस अवधारणा की बकालत बड़े-बड़े शिक्षाविद दशकों से करते आये हैं, उसे गांव के इन आदिवासी बच्चों ने स्वतः अपने जीवन में उतार लिया है। पढ़ाई को लेकर बच्चों की इस लगन से अभिभावक भी बेहद खुश हैं।
बड़े बच्चे अपने सवाल ब्लैक बोर्ड पर लिख देते हैं और शिक्षक बीच-बीच में गांव आ कर उन सवालों को हल करना सिखा जाते हैं। विद्यालय के प्रधानाध्यापक डॉ सपन कुमार पत्रलेख बताते हैं कि भले स्कूल बंद हो, मगर बच्चों की गतिविधियों पर उनकी नजर है और वे कोरोना से बचाव से लेकर बच्चों की पढ़ाई तक की ‌चिंता कर रहे हैं।
बहरहाल, प्रधानमंत्री की प्रशंसा ने डुमरथर उत्क्रमित मध्य विद्यालय के इन आदिवासी बच्चों में पढ़ाई की भूख पैदा कर दी है। पढ़ने-पढ़ाने का यह तरीका और बच्चों में शिक्षा पाने की यह ललक दूसरों को भी प्रेरणा दे रही है।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: