May 16, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

दुर्ग:रेमडेसीविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले धरे गए दो आरोपित

दुर्ग:- खाद्य एवं औषधि प्रशासन दुर्ग के निरीक्षक द्वारा ग्राहक बनकर आज रेमडेसीविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले दो आरोपितों को आज देर शाम पकड़ा गया। दोनों के पास से 4 नग रेमडेसीविर इंजेक्शन जप्त किए गए हैं। 48 सौ रुपए कीमत का एक इंजेक्शन को 13हजार रुपये में विक्रय के लिए सौदा किया गया था। इस संबंध में खाद्य एवं औषधि प्रशासन के निरीक्षक बृजराज सिंह ने बताया कि भिलाई क्षेत्र में रेमडेसीविर इंजेक्शन के कालाबाजारी किए जाने की सूचना उन्हें प्राप्त हुई थी। इस पर उनके द्वारा सूचना करता से कालाबाजारी करने वाले व्यक्ति का नंबर प्राप्त किया गया । प्राप्त नंबर से संपर्क करने के बाद एक इंजेक्शन का सौदा 13हजार रुपये में हुआ था। कालाबाजारी करने वाले सौदेबाजी के द्वारा निरीक्षक बृजराज सिंह को सुपेला स्थित घड़ी चौक में डिलीवरी के लिए बुलाया गया। शाम को निरीक्षक के पहुंचने पर 2 इंजेक्शन कि उन्हें डिलीवरी की गई तथा प्रत्येक इंजेक्शन का13हजार रुपये की कीमत के अनुसार 26हजार रुपये की मांग की गई। इस दौरान निरीक्षक बृजराज सिंह के द्वारा स्वयं के साथ सुपेला पुलिस को भी लेकर गए थे। इंजेक्शन की आपूर्ति करने वाले युवक को पकड़ कर पूछताछ की गई। इंजेक्शन के डिलीवरीकर्ता ने अपना नाम कुलेश्वर पटेल बजरंग पारा कोहका रहने वाला बताया । उसने यह भी बताया कि वह केवल डिलीवरी ब्वॉय है। यह इंजेक्शन उसे पहुंचाने के लिए बजरंग पारा कोहका निवासी डॉ पीयूष शुक्ला जो कि जगदलपुर मेडिकल कॉलेज में पदस्थ हैं के द्वारा दिया गया है। इस जानकारी के बाद निरीक्षक बृजराज सिंह एवं पुलिस के द्वारा डॉक्टर पीयूष शुक्ला को भी पकड़ा गया। उनके पास से भी दो नग रेमडेसीविर इंजेक्शन जप्त किए गए। पूछताछ पर डॉक्टर शुक्ला ने चारों ही इंजेक्शन रायपुर से लाना बताया है । निरीक्षक बृजराज सिंह ने बताया कि आरोपितों के खिलाफ खाद्य एवं औषधि अधिनियम के तहत कार्यवाही की जाएगी। खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग दुर्ग की ओर से निरीक्षक बृजराज सिंह ने नागरिकों से अपील की है कि निर्धारित मूल्य से अधिक कीमत पर किसी भी सदैव आज के द्वारा रेमदेसीविर इंजेक्शन अथवा कोई भी औषधि का मूल्य लिया जा रहा हो तो वे विभाग को शिकायत कर सकते हैं। शिकायत मिलने पर तत्काल औषधि की कालाबाजारी करने वाले के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। पूरी कार्यवाही में औषधि निरीक्षक ईश्वरी नारायण सिंह भी साथ में थे।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: