अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

लैंडमाइंस ब्लास्ट में शहीद डॉग ड्रोन का गार्ड ऑफ ऑनर के साथ हुआ अंतिम संस्कार

बेल्जियम शेर्ड डॉग ड्रोन ने राज्य के विभिन्न हिस्सों में 83 ऑपरेशनों में लिया था भाग

रांची:- झारखंड में गुमला जिले के कुरूमगढ़ थाना क्षेत्र मड़वा जंगल में माओवादियों द्वारा छिपाकर बिछाये गये लैंड माइंस विस्फोट में शहीद डॉग ड्रोन का अंतिम संस्कार गार्ड ऑफ ऑनर और बली की निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार बरही में किया गया। लैंड माइंस विस्फोट में मंगलवार को 203 कोबरा सीआरपीएफ बटालियन का डॉग ड्रोन शहीद हो गया था।
बेल्जियम शेफर्ड डॉग ड्रोन छह साल और नौ महीने की उम्र में 2015 को 203 कोबरा बटालियन में तैनात किया गया था। तैनात होने के बाद ड्रोन लगन से बटालियन की सेवा कर रहा था। डॉग ड्रोन ने झारखंड राज्य के लगभग सभी हिस्सों में 83 ऑपरेशनों में भाग लिया था। डॉग ड्रोन की सबसे बड़ी उपलब्धि सात अप्रैल 2016 को पारसनाथ क्षेत्र में थी, जहां उसने 40 किलोग्राम विस्फोटक के चार कंटेनर खोज निकाले थे। इसमें डेटोनेटर, कॉर्टेक्स, मोबाइल फोन, वॉकी टॉकी, जीपीएस भी शामिल था।
डॉग ड्रोन किसी भी दुर्घटना से बचने में मदद करता था और बहुमूल्य जीवन बचाता था, लेकिन दुर्भाग्यवश मंगलवार को गुमला में एक ऑपरेशन में उसने अपनी बहादुरी और बलिदान के साथ कोबरा कमांडो की एक पूरी टीम को एक शक्तिशाली आईईडी विस्फोट से बचाया और खुद शहीद हो गया।

%d bloggers like this: