अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

सरदार बल्लभ भाई पटेल की जयंती के अवसर पर जिला स्तरीय कार्यक्रम पुलिस लाइन में आयोजित


चाईबासा:- आज सरदार बल्लभ भाई पटेल के जयंती को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया जाता रहा है। उठो सरकार आज पुलिस लाइन चाईबासा में जिला स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें पुलिस उपमहानिरीक्षक कोल्हान क्षेत्र असीम विक्रांत मिंज़, जिला उपायुक्त पश्चिम सिंहभूम अनन्य मित्तल, पुलिस अधीक्षक पश्चिम सिंहभूम अजय लिंडा, कमांडेंट सीआरपीएफ बटालियन 174 और 197, प्रशिक्षु आईएएस, अनुमंडल पदाधिकारी सदर चाईबासा शशिंद्र कुमार बड़ाईक, परिचारी प्रवाह मंटू यादव सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।
आज आयोजित कार्यक्रम में वरीय पदाधिकारियों के द्वारा सरदार बल्लभ भाई पटेल के तस्वीर पर माल्यार्पण किया गया। तत्पश्चात पांच प्लाटून क्रमबद्ध सीआरपीएफ प्लाटून, डीएपी प्लाटून पुरुष और महिला, होमगार्ड प्लाटून, एनसीसी प्लाटून, के द्वारा परेड किया गया। तत्पश्चात पुलिस उपमहानिरीक्षक कोल्हान क्षेत्र श्री असीम विक्रांत मिंज के द्वारा राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर शपथ दिलाया गया कि मैं सत्य निष्ठा से राष्ट्र की एकता, अखंडता और सुरक्षा को बनाए रखने के लिए स्वयं को समर्पित करूंगा और अपने देशवासियों के बीच यह संदेश फैलाने का भी भरसक प्रयत्न करूंगा। मैं यह शपथ अपने देश की एकता की भावना से ले रहा हूं, जिसे सरदार वल्लभ भाई पटेल की दूरदर्शिता एवं कार्यों द्वारा संभव बनाया जा सका। मैं अपने देश की आंतरिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अपना योगदान करने का भी सत्यनिष्ठा से संकल्प लेता हूँ।
आजादी के 75 में महोत्सव पर झारखंड में पहली बार रेलवे द्वारा अनोखा रक्तदान शिविर आयोजित किया गया, जहां ऑल इंडिया रेलवे एसी कोच एसोसिएशन जमशेदपुर ब्लड बैंक और प्रतीक संघर्ष वेलफेयर संस्था ने इस कार्य में अपनी सहभागिता सुनिश्चित की जहां ट्रेन के डिब्बे में रक्त दाताओं ने रक्तदान किया
ऑल इंडिया रेलवे एसी कोच एसोसिएशन के इस पांचवें रक्तदान शिविर को अनोखा और अलग बनाने के लिए रेलवे कर्मचारियों के साथ भाग ब्लड बैंक और प्रतीक संघर्ष वेलफेयर ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी जहां ट्रेन के सफर जैसा महसूस करते हुए रक्त दाताओं ने रक्तदान किया वही जानकारी देते हुए प्रतीक संघर्ष वेलफेयर के निदेशक अर्जित सरकार ने बताया ऐसे रक्तदान शिविर के लिए दो हजार अट्ठारह से तैयारी चल रही थी, इस रक्तदान शिविर को आयोजित करने का मुख्य उद्देश्य है विपरीत परिस्थितियों में अगर कभी घटना या दुर्घटना होती है तो किस तरह से ट्रेन के डिब्बों को शिविर के रूप में कन्वर्ट कर रक्त दाताओं से रक्त लेकर दुर्घटना में शिकार हुए मरीजों को सहायता पहुंचाई जा सके, उन्होंने बताया कि इस कार्य के लिए ए सी के तीन डिब्बों का इस्तेमाल किया गया, इससे पहले डब्बे में रक्तदाता रक्तदान कर रहे हैं और अन्य दो डिब्बों में रक्तदान करने के बाद उन्हें ऑब्जर्वेशन में रखा जा रहा है उन्होंने बताया आज इस कार्य से रेलवे में भी रक्त की कमी को लेकर उत्पन्न हर विपरीत परिस्थितियों से निपटने की तैयारी पूरी हो गई है।

%d bloggers like this: