अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

विद्यार्थियों के जीवन , राष्ट्र तथा चरित्र निर्माण में गीता की महत्ता पर परिचर्चा


गीता आरती पर परिचर्चा के साथ गीता जयन्ती सप्ताह का समापन
रांची:- मार्गशीर्ष शुक्ल एकादशी अर्थात 14 दिसम्बर से पूर्णिमा अर्थात 18दिसंबर तक राजधानी रांची स्थित श्री शिव नारायण मारवाड़ी कन्या पाठशाला में गीता जयन्ती उत्सव मनाया गया ।
इसका उद्येश्य था कि छात्राएं ,शिक्षिकाएं व प्रबंधन विषम परिस्थितियों में भी अपनी सीखने व सीखने की प्रेरणा बनाये रखें ।
प्रतिदिन छात्राओं ने विभिन्न अध्यायों के कुछ श्लोकों का सस्वर गायन गाया, शिक्षिकाओं ने गीता के आधार पर छात्राओं को अनुशासन, एकाग्रता, निरन्तर अभ्यास, कड़ी मेहनत व बड़े सपने का महत्व बताया ।
छात्राओं को इन दिनों में श्याम टोरका, प्रभाकर अग्रवाल, आलोक तुलस्यान, राजेश कौशिक, विजय सरायका, राजीव रंजन प्रसाद, अध्यक्ष कमल केडिया व सचिव वेद प्रकाश बागला ने संबोधित किया। शिक्षिकाओं के साथ व्यक्तित्व निर्माण, समाज निर्माण व राष्ट्र निर्माण में श्रीमद्भगवद्गीता की भूमिका पर परिचर्चा की गई । आज समापन दिवस उपरोक्त कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु सचिव के मार्ग निर्देशन में प्रभारी प्रधानाध्यापिका गायत्री कुमारी की अगुवाई में सभी शिक्षिकाओं ने बढ़ चढ़ कर सहयोग किया ।
इस मौके पर सातवीं की छात्रा सुचिना कुमारी, आठवीं की लक्ष्मी कुमारी, आरती कुमारी, छठी की खुशी कुमारी और आठवीं की राधिका कुमारी ने बताया कि पांच दिवसीय कार्यक्रम के दौरान कई तरह की प्रतियोगिता, क्वीज, गीता श्लोक पाठ, गीता महिमा और प्रतीज्ञा का पाठ हुआ। उन्होंने बताया कि गीता के श्लोक को समझ कर उनके जीवन में कई बड़े बदलाव आये हैं। वे सभी चिन्मय आश्रय में आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में भी हिस्सा ले चुकी हैं।
इस मौके स्कूल की प्रभारी प्रधाना अध्यापिका गायत्री कुमारी ने बताया कि गीता के श्लोक से छात्राओं की दिनचर्या और मनोबल में बड़ा बदलाव आया है। गीता श्लोक को लेकर परिचर्चा में स्कूल की शिक्षिका बेला केशरी, शुभम कुमारी, मीना ओझा, रानी शांता, पिंकी रानी, सरोज कुमारी, सीमा सिन्हा, कामिनी कुमारी, सुनीता ओझा और ममता शर्मा ने भी हिस्सा लिया।

%d bloggers like this: