अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

मजलिस की बैठक में मुसलमानों की मूलभूत समस्याओं पर विमर्श


रांची:- मजलिस (मुस्लिम एसोसिएशन फॉर जस्टिस लिटरेसी एण्ड सोशल एवारनेस) झारखंड के तत्वावधान में रहमानिया मुसाफिरखाना सभागार में बैठक हुई। जिसमें विभिन्न मुस्लिम संगठनों एवं सामाजिक कार्यकर्ता शामिल हुए। बैठक की अध्यक्षता अंजुमन इस्लामिया रांची के अध्यक्ष इबरार अहमद ने की। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में अंजुमन इस्लामिया के महासचिव मुख्तार अहमद ने भाग लिया। बैठक में झारखंड के अल्पसंख्यकों विशेष कर मुसलमानों की मूलभूत बुनियादी समस्याओं पर विचार विमर्श किया गया। विभिन्न राजनीतिक दलों द्वारा मुसलमानों की शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, उद्योग, विभिन्न सरकारी बोर्ड, निगम, आयोग, विश्वविद्यालयों में सहभागिता बैंक ऋण सुविधाओं आदि पर ध्यान नहीं दिया जाता है। और उल्टे मुसलमानों को बेवजह के मुद्दों में उलझा कर दिगभ्रमित किया जाता है। एवं भेदभाव पैदा करने की कोशिश करते हुए नफरत एवं आपसी सौहार्द बिगाड़ने का प्रयास किया जाता है। इस तरह की गतिविधियों में सत्ता पक्ष एवं विपक्ष दोनों के द्वारा दोहरा रवैया अपनाया जा रहा है। बैठक को संबोधित करते हुए अंजुमन इस्लामिया अध्यक्ष इबरार अहमद ने कहा कि वास्तव में मुसलमानों की बुनियादी समस्याओं से ध्यान हटाने का प्रयास किया जाता है। श्री अहमद ने कहा कि ऐसा लगता है कि मुसलमानों की बुनियादी समस्याओं के प्रति सरकार गंभीर नहीं है। अंजुमन इस्लामिया के महासचिव मोख्तार अहमद ने कहा कि झारखंड का मुस्लिम समाज मोबलिंचिग का शिकार है। मॉब लिंचिंग में मारे गए लोगों को उचित मुआवजा नहीं दिया गया और ना ही मॉब लिंचिंग में शामिल दोषी अपराधियों के विरुद्ध कारवाई की गई। बैठक में परवेज अहमद, मौलाना तौफीक कादरी, एस अली, मतिउर्रहमान, जफर कमाल, मो खलील, गयासुद्दीन मुन्ना, हाजी नवाब, जाहिद खान, साजिद उमर, मो मून, हैदर अली, मो अफ्फान, मो अख्तर, मास्टर सलाहुद्दीन, मो मुस्तकीम आदि मौजूद थे।

%d bloggers like this: