June 24, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

आपदा प्रबंधन मंत्री ने यास साइक्लोन को लेकर छह जिलों को दिया विशेष निर्देश

रांची:- यास साइक्लोन को लेकर स्वास्थ्य एवं आपदा प्रबंधन मंत्री बन्ना गुप्ता ने 6 सबसे ज्यादा संभावित प्रभावित जिलों पूर्वी सिंहभूम, पश्चिमी सिंहभूम, सरायकेला, रांची, खूंटी और बोकारो के उपायुक्तों को विशेष निर्देश दिए हैं।
स्वास्थ्य मंत्री ने निर्देश दिये है कि साइक्लोन के फलस्वरूप विद्युत आपूर्ति बाधित होने की सम्भावना है। इसलिए सभी अस्पतालों में जहां मरीज भर्ती हों वहां पर विद्युत आपूर्ति की वैकल्पिक व्यवस्था सुनिश्चित करने की तत्काल कार्रवाई की जाए। वहीं विद्युत विभाग विद्युत आपूर्ति बाधित होने की स्थिति में विद्युत आपूर्ति ससमय बहाल करने हेतु आवश्यक कार्रवाई की जाए। विद्युत आपूर्ति बाधित होने के फलस्वरूप पेयजलापूर्ति बाधित होने की सम्भावना है। इस परिस्थिति में पेयजलापूर्ति बाधित होने पर पेयजलापूर्ति ससमय बहाल करने के लिए आवश्यक कार्रवाई करना सुनिश्चित की जाए। साइक्लोन के फलस्वरूप दूरसंचार भी प्रभावित होने की स्थिति में दूरसंचार की वैकल्पिक व्यवस्था जैसे सेटेलाइट फोन, वायरलेस कम्युनिकेशन इत्यादि सुनिश्चित की जाए तथा बाधित दूरसंचार सेवा को ससमय बहाल करने के लिए आवश्यक कार्रवाई की जाए।
स्वास्थ्य मंत्री की ओर से कहा गया है कि तेज हवा और अतिवृष्टि एवं तटवर्ती इलाको में बाढ के फलस्वरूप लोगों के घर ध्वस्त होने की सम्भावना है। अतः प्रभावित क्षेत्रों में आवश्यतानुसार शेल्टर कैंप स्थापित कर लोगो को शेल्टर कैंप में स्थानांतरित करने की कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। तूफान के फलस्वरूप बाढ आने से लोगों के घर ध्वस्त होने पर जो परिवार बेघर होते है। उनके लिए तत्काल प्लास्टिक की सीट उपलब्ध कराई जाए तथा एसडीआरएफ के आइटम और नार्म्स के तहत उन्हे पर्याप्त राहत मुहैया कराई जाए। सड़को पर पेड़ो के गिर जाने के फलस्वरूप आवगमन बाधित होने की स्थिति में आवगमन तत्काल बहाल करने हेतु आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित की जाए।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि जिन जिलों में ऑक्सीजन उत्पादन तथा ऑक्सीजन की रिफिलिंग ईकाईयां स्थापित है वहां यह सुनिश्चित किया जाए कि अन्य जिलो-राज्यों को ऑक्सीजन निर्बाध आपूर्ति हो। साईक्लोन के फलस्वरूप आवश्यक वस्तुओं की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करने की कार्रवाई की जाए।
बन्ना गुप्ता ने स्वर्ण रेखा खरकई और चाण्डिल डैम के जल स्तर पर नजर रखने और बचाव टिम को अलर्ट मोड पर रखे साथ ही पानी के लेवल की जानकारी अपडेट करते रहे और आवश्कतानुसार पानी रिलिज करने के पूर्व आपसी सहमति बना ले ताकि किसी भी प्रकार की जानमाल की क्षति न हो। इसके अलावा वन विभाग और नेशनल हाईवे की टीम आपसी तालमेल स्थापित करते हुए अलर्ट मोड पर रहे जिससे पेड़ के टुट के गिरने या अन्य किसी प्रकार के हादसा होने पर त्वरित राहत कार्रवाई की जा सकें। उन्होंने सभी सदर अस्पताल, सी0एच0सी0, पी0एच0सी0 में विद्युत आपूर्ति, आवश्यक दवाओं की उपलब्धता और स्वास्थ्य कर्मियों की ड्यूटी सुनिश्चित करने और एस0पी0 ऑफिस, डी0सी0 आफिस और जेल समेत अन्य जरूरी सरकारी संस्थाओ में विद्युत आपूर्ति बाधित न हो, यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। साथ ही सभी विद्युत स्टेशन एवं सब स्टेशन में टीम को सुरक्षित मोड पर रखें ताकि जरूरत पड़ने पर तत्काल राहत मिल सकें और सुरक्षा टीम और आवश्यक अधिकारियों के वाहन की उपलब्धता और सुरक्षा सुनिश्चित करें।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: