April 17, 2021

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

स्वास्थ्य विभाग की समीक्षात्मक बैठक संपन्न कोरोना टेस्टिंग सहित टीकाकरण कार्यक्रम में गंभीरता लाने का दिया निर्देश

हजारीबाग:- स्वास्थ्य विभाग की समीक्षात्मक बैठक नव निर्मित समाहरणालय कक्ष में उपायुक्त आदित्य कुमार आनंद की अध्यक्षता में आयोजित की गयी।
स्वास्थ्य मंत्रालय के द्वारा जनवरी 2021 को राष्ट्रिय टीकाकरण दिवस के रूप में मनाया जाना है, इस सम्बन्ध में जिले स्तर पर टीकाकरण को लेकर तैयारियों की जानकारी उपायुक्त ने ली। जिले में पल्स पोलियो अभियान को व्यापक स्तर पर क्रियान्वित करने के लिए शहरी तथा ग्रामीण स्तर पर एनजीओ,रेड क्रॉस जैसी संस्था की सहायता लने की बात कही ताकि पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान को सफल बनाया जा सके। मौके पर बताया गया की सभी प्रखंडों के बूथों में सेविका-सहायिका को टीकाकरण हेतु प्रशिक्षण दिया जा रहा हैद्य इस पर उपायुक्त ने अर्बन एरिया के डॉक्टर को नोडल बनाने की बात कही। सभी प्रखंडों में चल रहे प्रशिक्षण कार्य में बरकट्ठा में लक्ष्य के अनुरूप कम प्रशिक्षण दिए जाने पर डीसी ने इसको लेकर जवाब तलब किया। इस टीकाकरण कार्यक्रम में एक बूथ पर चार प्रशिक्षित सेविका-सहायिका मौजूद रहेंगे,वही २५० बच्चों पर एक बूथ संचालित होगा। उपायुक्त ने बरही के केदारुत व भण्डारो के कुछ इलाको में विशेष पोलियो अभियान चलाने की बात कही।
आगे उन्होंने कोविड-19 के रोकथाम के लिए अब तक किये गए जांचो की वर्तमान स्थिति का जायजा लिया, साथ ही उन्होंने कोरोना को हल्के में नहीं लेने की बात कही और कोरोना टेस्टिंग में सावधानी के साथ गंभीरता लाने की बात कही।
एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम को लेकर किये जा रहे कार्यो में बड़कागांव तथा इचाक प्रखंड में इस कार्यक्रम हेतु बेहतर करने की बात कहीद्य वही लक्ष्य के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर पा रहे इचाक के एमओआईसी को कड़ी फटकार लगायी। आगे उन्होंने अबतक लगभग किये गए २४००० एचआईवी टेस्ट में कितने पॉजिटिव आये है और अब तक उन पर क्या करवाई की गयी है उसकी जानकारी अगले बैठक में समर्पित करने की बात कही। गर्भवती महिलाओ में खून की कमी को लेकर किये गए लगभग 25000 हीमोग्लोबिन टेस्ट की वर्तमान स्थिति की जानकारी मांगी तथा जिन प्रखंडों से गर्भवती महिलाओ पर खून की कमी आ रही है उन जगहों पर विशेष शिविर लगाकर इसको रोकथाम के लिए कार्य करने का निर्देश दिया।
उपायुक्त ने कहा की अभी भी बहुत से जगहों पर संस्थागत प्रसव नहीं हो रहा है वैसे जगहों के लिए क्या तैयारी की जा रही है इसकी जानकारी ली। उन्होंने सुदूरवर्ती क्षेत्रों के स्वास्थ्य केन्द्रो में अतिरिक्त एएनएम की प्रतिनियुक्ति करने की बात कही ताकि संस्थागत प्रसव को लेकर लोगो को जागरूक किया जा सके। साथ ही ग्रामीण स्तर पर बेहतर परिणाम के लिए स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत हेल्थ मैनेजर की उपयोगिता की जानकारी ली तथा चुनौतीपूर्ण क्षेत्रों में उनकी प्रतिनियुक्ति करने की बात कही। गर्भवती महिला मृत्यू दर के कारणों तथा इसके रोकथाम हेतु किये जाने वाले प्रयासों की जानकारी ली। नवजात शिशु देखभाल केन्द्रो में प्रयाप्त मात्रा में रेडिएंट वार्मर,ऑक्सीजन ,वेयिंग मशीन तथा अन्य छोटे छोटे महत्वपूर्ण जरूरतों को दुरुस्त अवस्था में रखने का निर्देश दिया। वहीँ सभी प्रखंडों के विधालयो में पेय जल में फ्लोराइड की मात्रा की जाँच करने हेतु राष्ट्रीय फ्लोरोसिस रोकथाम एवं नियंत्रण कार्यक्रम को प्रभावी रूप से करने की बात कही। बैठक में टीबी,मलेरिआ,लेप्रोसी ,तम्बाकू मुक्त कार्यक्रम आदि विषयो पर जानकारी ली तथा शहर को स्मोकिंग फ्री ज़ोन बनाने के लिए एक्टिविटी शुरू करने की बात कही साथ ही नव निर्मित समाहरणालय भवन में नो स्मोकिंग ज़ोन का बोर्ड लगाने का निर्देश सिविल सर्जन को दिया।
मौके पर सिविल सर्जन, चिकित्सक ,समाज कल्याण पदाधिकारी ,एमओआईसी,बीपीएम ,हेल्थ मेनेजर व अन्य उपस्थित थे।

Recent Posts

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
%d bloggers like this: