अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

यातायात व्यवस्था में सुधार हेतु उपायुक्त ने की हाई लेवल मीटिंग


धनबाद:- धनबाद जिले की यातायात व्यवस्था में प्रभावी सुधार करने के उद्देश्य से शुक्रवार को समाहरणालय के सभागार में उपायुक्त ने एसएसपी, एडीएम, सिटी एसपी सहित वरीय अधिकारियों के साथ हाई लेवल मीटिंग की।
बैठक में यातायात व्यवस्था के सुदृढ़ीकरण के उद्देश्य से अनाधिकृत पार्किंग, वेंडिंग जोन, ई-चालान, बस तथा ऑटो का रूट चार्ट एवं पार्किंग सहित अनाधिकृत दुकानों इत्यादि के प्रबंधन पर विस्तार से चर्चा की गई।
बैठक में गोल बिल्डिंग चौक से पुलिस लाइन आने वाली सड़क पर अनाधिकृत पार्किंग, स्ट्रीट वेंडर्स एवं कुछ अवैध दुकानों के कारण स्टील गेट और बैंक मोड़ क्षेत्र में निरंतर बनती जाम की समस्या पर चर्चा हुई।
समस्या का निराकरण करने के लिए संबंधित अधिकारियों को संबंधित सड़कों की मापी कर राइट ऑफ वे (आरओडब्ल्यू) क्लियर करने, नो पार्किंग जोन बनाने एवं सड़कों पर साइन बोर्ड लगाने का निर्देश दिया गया।
स्टील गेट से हीरापुर के बीच कई स्थानों पर डिवाइडर के मध्य से लोग वाहनों के साथ सड़क पार कर लेते हैं। जिसका मुख्य कारण कई जगह पर डिवाइडर का टूटा हुआ होना तथा कई जगह पर डिवाइडर की ऊंचाई कम होना है। इस संबंध में पुलिस उप अधीक्षक यातायात एवं जिला परिवहन पदाधिकारी को अविलंब व्यवस्था में सुधार करने का निर्देश दिया गया।
उपायुक्त ने कहा कि शहर में ट्रैफिक जाम की समस्या का मुख्य कारण धनबाद से रांची, जमशेदपुर, बोकारो इत्यादि स्थानों से आवागमन करने वाले बस एवं माल वाहक वाहन है। सुचारू यातायात प्रबंधन के उद्देश्य से ऐसे यात्री बसों एवं मालवाहक वाहनों हेतु नया रूट निर्धारित करने का निर्णय लिया गया है।
रांची, जमशेदपुर एवं बोकारो से आवागमन हेतु वाहन करकेन्द, लोयाबाद बाजार, जोगता ब्रिज, तेतुलमारी, शक्ति चौक, विनोद बिहारी चौक, मेमको मोड़, बस स्टैंड के रूट का प्रयोग करेंगे। इस संबंध में जिला परिवहन पदाधिकारी को सभी संबंधित एसोसिएशन से अविलंब बैठक कर जिला प्रशासन के निर्णय से अवगत कराने एवं इसका पालन सुनिश्चित करवाने का निर्देश दिया है। शहर में चल रहे हैं ऑटो के रूट का प्रबंधन भी अत्यंत आवश्यक है। इस हेतु ऑटो एसोसिएशन के साथ दो दौर की बैठक संपन्न हुई है।
बैठक में ऑटो पार्किंग के लिए शहर में विभिन्न स्थानों पर जगह चिन्हित करने एवं पिकअप स्थानों को निर्धारित करने का निर्देश दिया गया है। साथ ही जिन यात्री शेडों को अतिक्रमण कर दूसरे कामों में लोगों द्वारा प्रयोग किया जा रहा है उसे अविलंब खाली कराने का निर्देश दिया गया।
उपायुक्त ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा जिले की यातायात व्यवस्था में प्रभावी सुधार करने के लिए गंभीरता से प्रयास किए जा रहे हैं। इसी क्रम में ट्रैफिक मॉनिटरिंग टीम का भी गठन किया गया है। जो रियल टाइम ट्रैफिक की स्थिति के अनुरूप कार्य करेगी। साथ ही ड्रोन कैमरा के माध्यम से भी यातायात व्यवस्था पर निगरानी रखी जाएगी।
बैठक में उपायुक्त, वरीय पुलिस अधीक्षक, पुलिस अधीक्षक (शहरी), अपर जिला दंडाधिकारी (विधि व्यवस्था), नगर आयुक्त, अपर समाहर्ता, अनुमंडल पदाधिकारी, जिला परिवहन पदाधिकारी, सहायक पुलिस अधीक्षक, कार्यपालक अभियंता पथ निर्माण विभाग, पुलिस उपाधीक्षक सीसीआर एवं यातायात सहित अन्य संबंधित पदाधिकारी उपस्थित रहे।

%d bloggers like this: